Ads (728x90)

 

मुंबई | हिन्दुस्तान की आवाज | संवाददाता

केंद्र की सत्ता में बैठी भाजपा सरकार  मोदी के इशारे पर कृषि कानून का नया अध्यादेश लाया है । इसका देश भर के किसान भारी विरोध कर रहे है । दिल्ली के बाहर खुले आसमान के नीचे सड़क पर इस कड़ाके की सर्दी के मौसम में भी गत 14 दिनों से हजारों किसान धरना प्रदर्शन कर रहे हैं । लेकिन मोदी सरकार में मंत्री बने बैठे मुट्ठी भर लोगों ने अपने मुंह और कान , आंख बंद कर उनकी मांगों को अनसुनी कर रखा है । जबकि पूरे देश भर के बुद्धिजीवी वर्ग के लोगों का किसानों को समर्थन मिल रहा है । बेगुनाह मजदूर किसानों पर पुलिस लाठियां भांजकर और पानी का फव्वारा छोड़ कर धरना स्थल से भागने का प्रयास कर रही है । लेकिन बहुत हिम्मत और दिलेरी के साथ किसान अपनी जगह पर बैठे सरकार के जवाब के इंतजार में हैं । धरना पर बैठे जनप्रतिनिधि और सरकार के बीच कई दौर की बातचीत हो गई लेकिन उसका सकारात्मक नतीजा सामने नहीं आ सका जिसके कारण किसानों का धरना प्रदर्शन पूर्ववत जारी है ।


समाजवादी पार्टी के महाराष्ट्र और मुंबई अध्यक्ष तथा मानखुर्द शिवाजी नगर विधान सभा के कार्य सम्राट विधायक अबू आसिम आजमी ने बैलगाड़ी की सवारी कर भारत बंद का जोरदार ढंग से समर्थन किया । किसानों के समर्थन में उनके सैकड़ों कार्यकर्ता सड़क पर उतर गए ।

 उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि , बेचारा गांव में रहने वाला गरीब किसान देश की बढ़ती मंहगाई की मार से बेहाल हो रहा है । ऊपर से मोदी की हिटलरशाही केंद्र सरकार नित नया कानून बना कर जनता को और भी परेशान करने का काम कर रही है । जबतक किसान विरोधी बिल निरस्त नहीं किया जाता है तबतक हमारा आंदोलन किसानों के हित में चलता रहेगा । सपा के सच्चे सिपाही पुलिस की गिरफ्तारी से ना पहले डरे है नहीं तो आगे डरने वाले है । सपा महाराष्ट्र महासचिव जुल्फेकार आजमी , मुंबई सचिव तुफैल सिद्दीकी और अमन खान , मुंबई महासचिव और ईशान्य मुंबई जिला तथा दक्षिण मध्य मुंबई जिला प्रभारी वकील खान , ईशान्य मुंबई जिला अध्यक्ष निसार अहमद , जिला सचिव अबुबकर खान , तालुका सचिव अहद खान  को पुलिस ने गिरफ्तार कर उन्हें बाद में रिहा कर दिया ।

  फोटो कपिलदेव खरवार

Post a comment

Blogger