Ads (728x90)

 


मुंबई  | हिन्दुस्तान की आवाज | विशेष संवाददाता

भारत के सुप्रसिद्ध शायर व स्वतंत्रता संग्राम सेनानी डॉ अल्लामा इकबाल ने तब कागज़ पर लिखा था , सारे जहां से अच्छा हिंदोस्ता हमारा । लेकिंन आज यह देश भक्ति गीत भारत के माथे पर पत्थर की लकीर बन चुका है ।


उपरोक्त बातें शिवाजी नगर के कार्य सम्राट विधायक व समाजवादी पार्टी महाराष्ट्र तथा मुंबई के अध्यक्ष अबू आसिम आजमी ने शिवाजी नगर में आयोजित एक जयंती समारोह को माइक पर संबोधित करते हुए कहा । डॉ अल्लामा इकबाल और देश के जाने माने स्वतंत्रता संग्राम सेनानी मौलाना अबुल कलाम आजाद की संयुक्त जयंती शिवाजी नगर उर्दू स्कूल नंबर 2 में आयोजित कार्यक्रम को  सम्बोधित करते हुए आगे उन्होंने यह भी कहा कि , यह गीत हर साल 15 अगस्त के मौके पर लाल किला और 26 जनवरी को देश के हर गली और चौराहे पर सुनने को मिलता है । उनके दिल में देश प्रेम की भावना थी उसको उन्होंने कागज़ पर उतार कर इस गीत को अमर कर दिया । मुझे इस बात का बेहद अफसोस है कि , वो देश के बंटवारे में पाकिस्तान चले गए ।  अब वो हयात में नहीं है लेकिन इस गीत के जरिए रहती दुनिया तक हमारे दिलों में रहेगें । मौलाना अबुल कलाम आजाद देश के महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे । देश की आजादी के लिए गांधी , नेहरू और सरदार पटेल के साथ कई बार जेल गए । आजाद भारत का संविधान निर्माण समिति के सदस्य के रूप में उन्होंने अपना विशेष योगदान दिया । एकबार उन्होंने दिल्ली के जामा मस्जिद पर एक भाषण में यहां तक कह डाला कि यदि कोई कहे कि , हिन्दू - मुस्लिम अलग हो जाय तब उन्हें आजादी मिल जाएगी तो इसके जवाब में उन्होंने कहा था कि , हम अपनी गंगा जमुनी तहजीब से अलग हो कर आजाद होना नहीं  चाहेगें बल्कि थोड़े दिन और गुलाम रह लेगें । लकिंन जब भी हम आज़ाद होगें एक साथ ।आज हम अपने देश के दोनों महापुरुषों को नमन करते है । श्री आजमी ने कार्यक्रम के

आयोजकों को धन्यवाद और छात्रों और छात्राओं को दिल की गहराई से बधाई दी । छात्रों ने अनेक देश भक्ति कार्य क्रम प्रस्तुत कर अपने अभीभवकों और सभी अतिथियों का दिल जीत लिया l कोविड -- 19 की बिमारी में अपनी जान की बाज़ी लगाकर जिन स्थानिक डोक्टरों ने लोगों का इलाज किया था उन्हें ट्राफी और प्रमाण पत्र देकर अबू आसिम आजमी ने उन 15 से 20 डोक्टरों को सम्मानित किया । कार्यक्रम में मुंबई सपा महासचिव एवं दक्षिण मध्य मुंबई जिला और ईशान्य मुंबई जिला प्रभारी वकील खान , तालुका अध्यक्ष ग्यासुद्दीन शेख , नगर सेविका रुकसाना सिद्दीकी , नगर सेविका आयसा पहात आजमी , स्थानिक नगर सेविका आयशा रफीक शेख , इरफान शेख , बहादुर शेख , इस्माईल अंसारी , शिकदर शेख , सलीम रेड्डी , अब्दुल मुईद  के अलावा महिलाओं की संख्या पुरुषों की अपेक्षा अधिक थी ।

Post a comment

Blogger