Ads (728x90)


भिवंडी ।एम हुसेन।  भिवंडी के वकील नसीम मोमिन, वकील  सफावन मोमिन,वकील युवराज पाटील आदि नेे भिवंडी न्यायालय का कामकाज नियमित व पूर्ण रूप से शुुरू  करने के लिए  उच्च न्यायालय में  एक जनहित याचिका दाखिल किया था । उच्च न्यायालय ने न्यायालय का कामकाज शुरू करने  बाबत दिनांंक 15.9.20  को परि पत्रक  जारी  करते हुए उक्त  जनहित याचिका पुनः आवश्यकता  हुई तो दाखिल करने की अनुमति  दी जाएगी  इस प्रकार का आदेश देते हुए याचिका खारिज कर दिया है ।

    कोरोना महामारी संकट काल को ध्यान में रखते हुए लाॅकडाउन लागू किया गया है जिसकारण  न्यायालयीन कामकाज पूर्व 5 महीने से बंद पड़े हैं  ।परिणाम स्वरूप  वकीलों , विशेष रूप से ज्युनियर वकीलों की आर्थिक परिस्थिति बिकट हो गई हैं  जिसकारण वकीलों को न्यायालय का कामकाज नियमित रूप शुरू करने की  मांग करना पड़ रहा है । सीनियर वकील दामले ,वकील सूर्यवंशी ने इस   प्रकरण में  उच्च न्यायालय में  ज्युनियर वकीलों का समर्थन किया था। उच्च न्यायालय द्वारा परिपत्रक के  अनुसार उक्त याचिका खारिज कर दी गई है इस प्रकार की जानकारी भिवंडी वकीलों ने दी है। 

Post a comment

Blogger