Ads (728x90)

-
टोरेंट पावर कंपनी द्वारा लॉकडाउन के दौरान भेजी गई बिजली बिल को लेकर भिवंडी शहर जिला भाजपा द्वारा प्रांत अधिकारी कार्यालय के सामने प्रदर्शन करके विरोध व्यक्त किया गया है। प्रदर्शन के बाद भाजपा के शिष्टमंडल द्वारा प्रांत अधिकारी को ज्ञापन सौंपा गया । 
   बतादें कि लॉकडाउन के दौरान लगभग 100 दिनों तक पावरलूम उद्योग सहित सभी उद्योग धंधे पूर्ण रूप से  बंद थे, जिसके कारण पावरलूम उद्योग पर आधारित मजदूरों की एक बड़ी संख्या के सामने लॉकडाउन के दौरान भुखमरी के संकट की समस्या आ गई थी। लेकिन भिवंडी में बिजली आपूर्ति करने वाली टोरेंट पावर कंपनी द्वारा मार्च-अप्रैल का औसत बिल एवं मई महीने का बिजली बिल तीन से चार गुना भेजी गई है । लॉकडाउन के दौरान शहर के स्कूल,कॉलेज,होटल एवं दुकानें आदि भी बंद थी, इसके बावजूद उन्हें भेजी गई तीन से चार गुना बिजली बिल वसूल किया जा रहा है।जिसके कारण शहर के नागरिकों में टोरेंट पावर कंपनी  के विरुद्ध आक्रोश व्याप्त है।इस प्रकार का आरोप लगाते हुये  तीन से चार गुना भेजी गई बिजली बिल के विरोध में भाजपा जिलाध्यक्ष संतोष एम शेट्टी के नेतृत्व में प्रांत  अधिकारी कार्यालय के सामने जोरदार प्रदर्शन  करते हुये  बिजली बिल में हुई वृद्धि को कम करने की मांग की गई है  ।
    कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुये इस अवसर पर  शारीरिक अंतर का पालन करते हुये जिलाध्यक्ष संतोष शेट्टी के साथ नगरसेवक श्याम अग्रवाल,प्रेमनारायण राय,निष्काम भैरी,राजू गाजेंगी,भोलेनाथ गुप्ता, जिया लाल गुप्ता, दीपक झा ,संजय पाटील,  कल्पना शर्मा,ममता परमानी सहित अन्य पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता  उपस्थित  थे। भाजपा पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने बिजली बिल में हुई वृद्धि  को लेकर राज्य सरकार एवं टोरेंट पावर कंपनी के विरुद्ध नारेबाजी करते हुये अपना विरोध व्यक्त किया। जिलाध्यक्ष संतोष एम शेट्टी के साथ भाजपा के एक शिष्टमंडल ने प्रांत  अधिकारी डॉ. मोहन नलदकर को एक ज्ञापन  प्रस्तुत  किया ।इस अवसर पर तहसीलदार शशिकांत गायकवाड़ एवं टोरेंट पावर कंपनी के उपव्यवस्थापक संजय आष्टीकर को बिजली बिल में हुई वृद्धि के संदर्भ  में अवगत कराया गया है। 

Post a comment

Blogger