Ads (728x90)

-
राज्य  स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि भिवंडी में कोरोना संक्रमित मरीजों के  उपचार  के लिये आईजीएम उपजिला अस्पताल को सुसज्जित करने का प्रयास किया जायेगा। अस्पताल में अत्यावश्यक सेवा देने के लिये चिकित्साधिकारी,कर्मचारी,नर्स एवं लैब कर्मचारियों के रिक्त पदों पर जल्द से जल्द भर्ती करके अस्पताल में अन्य सुविधायें बढ़ाई जायेगी और ऑरेंज अस्पताल में अन्य मरीजों के  उपचार  के लिये व्यवस्था की गई है। लेकिन वहां भी चिकित्साधिकारी सहित स्टॉफ की कमी है, जिसे जल्द ही बढ़ाने का आदेश जिला प्रशासन को दे दिया गया है। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने  कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर नियंत्रण पाने के लिये मनपा मुख्यालय में आयोजित एक विशेष बैठक में बोल रहे थे ।इसी अवसर पर  स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि भिवंडी की  जनसंख्या  काफी कम है, फिर भी अन्य शहरों की अपेक्षा कोरोना से मरने वालों की संख्या यहां अधिक है जो चिंता का विषय है। यहां कोरोना मरीजों की हो रही डबलिंग को सुधारने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि कोरोना की जांच के लिये ठाणे जिला में पांच टेस्टिंग लैब बनाये जा रहे हैं , जिसमें एक टेस्टिंग लैब भिवंडी में बनाया जायेगा । भिवंडी के मोरोना मरीजों की जांच की रिपोर्ट आने में 48 घंटे लगते थे इससे मुक्ति मिलेगी । उन्होंने कहा कि शहर के बंद निजी अस्पतालों एवं दवाखानों को शुरू कराने का प्रयास करना आवश्यक है।इसके लिये शहर के सभी निजी चिकित्सालयों के डॉक्टरों एवं स्टॉफ की सुरक्षा के लिये पीपीई किट उपलब्ध कराया जायेगा, जिसके लिये सरकार द्वारा 15 लाख रूपये निधि की मंजूरी दे गई है ।
      स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने निजी अस्पतालों को चेतावनी देते हुये कहा है कि निजी अस्पतालों एवं दवाखानों का सहयोग आवश्यक है ,वहीं स्पष्ट रूप से कहा कि जो सहयोग नहीं करेंगे उनके विरुद्ध नियमानुसार कार्रवाई करने का आदेश जिला एवं मनपा प्रशासन को दे दिया गया है। उन्होंने कहा कि शहर के यूनानी एवं आयुर्वेदिक चिकित्सकों से भी सहयोग लेने का आदेश दिया गया है। आईजीएम उपजिला अस्पताल एवं ऑरेंज अस्पताल की कमियों को दूर करने का आदेश मनपा प्रशासन को दिया गया है। दो-तीन दिन के अंदर अस्पताल की असुविधाओं को दूर कर दिया जायेगा।उन्होंने वेतन कम पाने वाले कर्मचारियों को पूरा वेतन देने के लिये प्रस्ताव भेजने का आदेश दिया है । स्वास्थ्य मंत्री ने  भिवंडी आईएमए के सदस्य चिकित्सकों द्वारा प्रतिदिन तीन घंटे की सेवा देने का अनुरोध किया है ।उन्होंने कहा कि आईएमए के चिकित्सकों की सेवायें निःशुल्क नहीं ली जायेगी, जिसके लिये उन्होंने पेमेंट देने का आश्वासन दिया है । 
      कोरोना संक्रमित मरीजों की पहचान करने के लिये एंटीजेन टेस्ट शुरू कराने एवं मोहल्ला क्लीनिक शुरू कराने का आदेश देते हुये कहा कि मोहल्ला क्लीनिक में साधारण मरीजों का उपचार किया जाना आवश्यक है। मरीजों की स्थिति किसी भी हालत में खराब नहीं होनी चाहिये, उन्होंने कहा कि आईजीएम उपजिला अस्पताल में कोरोना मरीजों का  उपचार  किया जा रहा है। जिसके कारण नॉन कोविड मरीजों के  उपचार  के लिये ऑरेंज अस्पताल लिया गया है। ऑरेंज अस्पताल में मरीजों का अच्छी तरह से उपचार किया जाना आवश्यक है । उन्होंने कहा कि ऑरेंज अस्पताल में प्रसूति के लिये आने वाली गर्भवती महिलाओं को दूसरे अस्पतालों में भेजा जाता है, यह उचित नहीं है,सभी लोगों का उपचार किया जाना आवश्यक है। 
      स्वास्थ्य मंत्री टोपे ने कहा कि महात्मा ज्योतिबा फुले जीवन दायी आरोग्य  योजना के तहत निजी अस्पतालों में कोरोना संक्रमित मरीजों का निःशुल्क  उपचार  किया जायेगा।जिसके लिये उन्होंने शहर के  4 निजी अस्पतालों को महात्मा ज्योतिबा फुले योजना में शामिल करने का आदेश दिया है, जिसमें सभी मरीजों का निःशुल्क  उपचार  किया जायेगा । उन्होंने कहा कि ठाणे सिविल अस्पताल में सभी प्रकार के मरीजों के  उपचार  करने की क्षमता है, वहां जाने वाले किसी भी मरीज को बिना  उपचार  के वापस नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि ठाणे जिला में जल्द ही मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल बनाया जायेगा।
   शहर के नागरिकों में कोरोना संक्रमण के लिये जागरूक करना आवश्यक है,नागरिकों  को मास्क लगाना,शारीरिक अंतर का पालन करने के लिये जो आदेश दिया गया है, उसका कड़ाई के साथ पालन किया जाये,नियमों का पालन करके ही कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण मिलना संभव है, नियमों का पालन करके ही कोरोना को मात दिया जा सकता है। जिसके लिये नागरिकों का सहयोग आवश्यक है।उक्त अवसर पर महापौर  श्रीमती प्रतिभा पाटील,विधायक रईस कासम  शेख,जिलाधिकारी डॉ.राजेश नार्वेकर,प्रांताधिकारी डॉ मोहन नलदकर,    मनपा आयुक्त डॉ. पंकज अशिया,स्वास्थ्य विभाग की सहायक संचालक गौरी राठौड़, सिविल सर्जन डॉ. कैलास पवार,सभागृह नेता विलास पाटील,उपमहापौर इमरान खान , स्थायी समिति  सभापति मो.हलीम अंसारी सहित अन्य अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि  उपस्थित  थे ।  

Post a comment

Blogger