Ads (728x90)

 -
राज्य में  कोरोना वायरस के बढते संक्रमण को रोकने के  लिए  लॉकडाउन  लागू कर दिया गया है ।इस  प्राणघातक बीमारी के कारण यहां  कोरोना  संक्रमण विद्यार्थियों  को प्रभावित न  करें इसलिए  राज्य शासन ने  सभी स्कूल  ,महाविद्यालयों को  बंद  रखने का आदेश दिया है । इसी प्रकार  उद्योग,व्यवसाय व कामधंदा बंद  हो गए हैं जिसकारण  बहुत से अभिभावकों की आर्थिक परिस्थिति भी दयनीय हो गई है ।इसी प्रकार  भिवंडी के  प्रेसिडेन्सी स्कूल व्यवस्थापन द्वारा  विद्यार्थी , अभिभावकों द्वारा  चालू शैक्षणिक वर्ष की  फीस एकरकम नकद स्वरुप में  जबरदस्ती  वसूल की  जा रही है ।इसी प्रकार  तीन महीने की अन्य  शैक्षणिक सुविधा जैसे  बस का किराया  ,भोजन के लिए  मेस का  किराया भी स्कूल  व्यवस्थापन द्वारा  शुल्क आकार किया  जा रहा है  इस प्रकार की जानकारी महाराष्ट्र नवनिर्माण विद्यार्थी सेना के  भिवंडी तालुका अध्यक्ष परेश चौधरी  को प्राप्त हुई थी ।जिसे गंभीरतापूर्वक संज्ञान में लेते हुए स्थानिक पदाधिकारी विभाग अध्यक्ष  गिरीश देव, उपशहराध्यक्ष महेश मिरजे, विशाल कांबले, वंशी वडलाकोंडा आदि को साथ लेकर  स्कूल  प्रशासन को पत्र देकर उनसे इस संदर्भ में जानकारी ली ।और शैक्षणिक वर्ष 2019-20 व 2020-21 में  देय व  बकाया फीस एक साथ न वसूल किया जाये  बल्कि  प्रत्येक महीने के अनुसार  अथवा त्रैमासिक लिया जाये , तथा शैक्षणिक वर्ष 2020-21 के लिए किसी प्रकार की कोई  फीस न बढाई जाये व अभिभावकों की  आर्थिक परिस्थिति को संज्ञान में लेते हुए शुरु होने वाले  शैक्षणिक वर्ष में  बस किराया, मेस किराया  व अन्य  सुविधा खर्च किस प्रकार से  कम किया  जा सकता है इस विषय पर चर्चा अभिभावक  , शिक्षक समिति में किया जाये इस प्रकार का किया है। उक्त संदर्भ में स्कूल  प्रशासन द्वारा  सकारात्मक भूमिका निभाई जायेगी इस प्रकार की जानकारी  मनविसेना के  तालुकाध्यक्ष परेश चौधरी  ने दी है।

Post a comment

Blogger