Ads (728x90)

भिवंडी में कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहा है।कोरोना संक्रमित व्यक्ति की मौत के बाद उसके अंतिम संस्कार के लिये मनपा द्वारा दिशा निर्देश दिये जाने के बाद भी नागरिकों द्वारा उसका पालन नहीं किया जा रहा है। कोरोना संक्रमित व्यक्ति के अंतिम संस्कार के लिये मनपा के दिशा निर्देशों का उल्लंघन करके शव को नहलाने एवं उसे स्पर्श करने वाले लगभग 45 लोगों को मनपा अधिकारियों द्वारा  रांजनोली  स्थित टाटा आमंत्रा  के  सरकारी क्वारंटीन में भेज दिया गया है। मनपा ने चेतावनी दी है कि अस्पताल से पैक करके दिये गये शव को खोलने वालों के विरुद्ध कार्रवाई की जायेगी।
   मालूम हो कि कामतघर स्थित आशीर्वाद नगर के 45 वर्षीय एक व्यक्ति को कलवा स्थित छत्रपति शिवाजी महाराज अस्पताल में भर्ती कराया गया था ।जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई थी। प्रभाग समिति क्रमांक 3 के सहायक आयुक्त सुदाम जाधव ने बताया कि उस व्यक्ति की मौत के लगभग आधा घंटा बाद आई रिपोर्ट से मालूम हुआ कि वह कोरोना संक्रमित था। मृतक व्यक्ति के परिजनों के अनुरोध करने के बाद अंतिम संस्कार के लिये कलवा अस्पताल द्वारा शव पैक करके दे दिया गया था।उसका शव भिवंडी लाने के बाद उसके रिश्तेदारों ने अंतिम दर्शन के लिये पैक किये हुये शव को खोल दिया। कोरोना वायरस के संक्रमण की परवाह न करते हुये शव को नहलाया गया, उनके रिश्तेदारों सहित अन्य कई लोगों ने शव को स्पर्श करके अपनी संवेदना व्यक्त की । कोरोना संक्रमित उस व्यक्ति के अंतिम संस्कार में उनके रिश्तेदारों सहित लगभग 50 से 60 लोग शामिल हुये थे ।
   सहायक आयुक्त सुदाम जाधव ने बताया इसकी जानकारी मिलते ही उन्होंने मनपा आयुक्त डॉ. प्रवीण आष्टीकर को सूचित किया ।मनपा आयुक्त के निर्देश पर सहायक आयुक्त सुदाम जाधव ने मनपा अधिकारियों एवं पुलिस बल के साथ आशीर्वाद नगर  क्षेत्र  में जाकर शव को स्पर्श करने वाले लोगों की पहचान करके एक-एक को उनके घर से निकालकर टाटा आमंत्रा स्थित सरकारी क्वारंटीन सेंटर में भेज दिया गया है । सहायक आयुक्त सुदाम जाधव ने बताया कि मृतक व्यक्ति का शव स्पर्श करने वाले कोई भी व्यक्ति क्वारंटीन के लिये तैयार नहीं थे,पुलिस द्वारा उनके विरुद्ध एफआईआर करने की चेतावनी देने के बाद क्वारंटीन के लिये लोग तैयार हुये। उन्होंने बताया कि मनपा स्वास्थ्य विभाग द्वारा पूरे  क्षेत्र  को सेनेटाइज करके चेतावनी दे दी गई है कि भविष्य में यदि किसी ने इस प्रकार का काम किया तो उसके विरुद्ध कार्रवाई की जायेगी ।
  उक्त संदर्भ में भिवंडी मनपा आयुक्त डॉ प्रवीण आष्टीकर ने कहा कि   कलवा के छत्रपति शिवाजी अस्पताल द्वारा कोरोना संक्रमित व्यक्ति का शव दिया जाना ही गलत है। शव का अंतिमसंस्कार नियमता वहीं किया जाना चाहिये था। मनपा द्वारा कलवा अस्पताल को इसके लिये पत्र लिखा जायेगा ।

Post a comment

Blogger