Ads (728x90)

 भिवंडी।एम हुसेन। भिवंडी में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में  धीरे-धीरे  वृद्धि होते  जा रही है। कोरोना संक्रमित दो नये मरीज मिलने के कारण भिवंडी मनपा  क्षेत्र  में 21 और ग्रामीण क्षेत्रों में 14 मरीज कुल मिलाकर  कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 35 हो गई है। जिसमें कोरोना संक्रमित छह मरीज ठीक भी हो गये हैं, खोनी गांव का एक व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाया गया है। लेकिन वह काफी दिनों से बाहर है और बाहर ही उसका  उपचार भी चल रहा है।जिसके कारण स्वास्थ्य विभाग ने उसकी गणना ग्रामीण में नहीं की है ।
  बतादे कि मुंबई के कुर्ला स्थित कालीना से 25 वर्षीय एक महिला वंजारपट्टी नाका के पास अपने घर आई थी, जिसे टाटा आमंत्रा स्थित सरकारी क्वारंटीन में भेज दिया गया था। लेकिन जांच के बाद शुक्रवार को आई रिपोर्ट में वह कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। पॉजिटिव पाये जाने के बाद  उसे उपचार के लिये आईजीएम उपजिला अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।इसी  प्रकार  बीएमसी में काम करने वाला डुंगे गांव का एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया गया उसके  के बाद उसे उपचर के लिये आईजीएम उपजिला अस्पताल में  भर्ती करा दिया गया है।
   मनपा के जनसंपर्क अधिकारी मिलिंद पलसुले ने बताया कि मनपा  क्षेत्र  में कोरोना संक्रमित एक नया मरीज मिलने के कारण कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 21 हो गई है। जिसमें बंगालपुरा में एक,बेतालपाड़ा में तीन,अवचित पाड़ा एक , मानसरोवर गार्डेन में एक,घूंघटनगर में दो,तांडेल मोहल्ला तीन,मुमताजनगर एक, कामतघर चार,शांतिनगर एक,आजमीनगर एक,फुलेनगर एक,भादवड़ एक एवं वंजारपट्टी नाका में एक सहित कोरोना संक्रमित कुल 21 मरीज हो गये हैं। जिसमें बंगालपुरा के 65 वर्षीय व्यक्ति,बेतालपाड़ा के 50 वर्षीय एवं अवचित पाड़ा का 23 वर्षीय एक युवक सहित कुल तीन मरीज ठीक होकर अपने घर आ गये हैं। कोरोना संक्रमित मरीजों के संपर्क में आने वाले 356 लोगों को टाटा आमंत्रा स्थित सराकरी क्वारंटीन में रखा गया है और 55 लोग होम क्वारंटीन में हैं ।
   भिवंडी पंचायत समिति के गटविकास अधिकारी डॉ. प्रदीप घोरपड़े ने बताया कि डुंगे गांव में कोरोना संक्रमित एक मरीज पाये जाने के कारण ग्रामीण  क्षेत्र में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 14 हो गई है। जिसमें पड़घा बोरीवली, कशेली एवं कोनगांव के तीन कोरोना संक्रमित मरीज ठीक हो गये हैं ।उन्होंने बताया कि ग्रामीण  क्षेत्र में जहां भी कोरोना संक्रमित मरीज पाये जा रहे हैं, उस  क्षेत्र  को सील करके स्वास्थ्य विभाग द्वारा वहां सेनेटाइज किया जा रहा है ,और कोरोना संक्रमित मरीज के संपर्क में आने वाले लोगों को सीधे सरकारी क्वारंटीन में भेज दिया जाता है ।     

Post a comment

Blogger