Ads (728x90)

अबोहर  पंजाब बेटी बचाओ  बेटी पढ़ाओ  का नारा देकर  सेंटर में आई  मोदी सरकार के दावे  सिर्फ  सिर्फ खोखले  हवा में  उड़ते हुए  नजर आ रहे हैं कहने को तो हमारे देश के प्रधानमंत्री महिलाओं के लिए बड़े-बड़े कानून बना रहे हैं लेकिन स्थिति इससे विपरीत नजर आ रहे हैं इसी तरह पिछले दिनों यह घटना घटी जिसके अंदर अभिभावकों ने कहा की बेटी हम शर्मिंदा हैं क्योंं​कि तेरे कातिल अभी जिंदा हैं'। नारी को नारायणी लक्ष्मी का रूप दुर्गा का रूप माता यशोदा का रूप सीता माता का रूप कहने वाले इस देश में हर पल एक मासूम दरिंदगी का शिकार हो रही है। एक ही पल में किसी की मां, किसी की बेटी तो किसी की बहन की इज्जत तार तार हो जाती है और बड़े बड़े वादे करने वाले अचानक गूंगे हो जाते हैं। कब तक ​देश की बेटियां हवस की आग में जल रहे हैवानों का शिकार बनती रहेगी और कब तक समाज तमाशा देखता रहेगा।
हैदराबाद में महिला सरकारी डॉक्टर के साथ हुई हैवानियत ने एक बार फिर पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है। हर ​मां के मन में यही सवाल उठ रहा है कि क्या बेटी सुरक्षित है? 'बेटी बचाओ बेटी पढाओं' के नारे आज खोखले नजर आ रहे हैं। हालांकि हैदराबाद की इस लड़की को लेकर इंसाफ की मांग तो खूब उठ रही है लेकिन सवाल यह है कि ​कब तक? कुछ दिन बाद लोग भूल भी जाएंगे कि ऐसी कोई घटना भी हुई थी।
दरअसल यह पहला मामला नहीं है जब एक बेटी बर्बरता का शिकार हुई इससे पहले भी इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली घटनाएं सामने आई है। लेकिन अफसोस इस बात का है​ कि हर बार आवाज उठी और कुछ दिन बाद दब भी गई। उम्मीद करते हैं कि हैदराबाद की इस बेटी को जल्द से जल्द इंसाफ मिले। सोशल मीडिया पर भी उसके लिए आवाज उठाई जा रही है। हर तरफ एक ही आवाज उठाई जा रही है आरोपियों को फांसी पर लटकाने की मांग की जा रही है।
Attachments area

Post a comment

Blogger