Ads (728x90)

 भिवंडी ।एम हुसेन।स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों को समाज में होने वाली घटनाओं की जानकारी शिक्षकों को जरूर देना चाहिये| छात्राओं को किसी भी अजनबी व्यक्ति से कोई बातचीत नहीं करनी चाहिये। इसके साथ ही छात्राओं को इस बात का ध्यान रखना चाहिये कि किसी भी लालच में न आते हुये उन्हें अपना दैनिक जीवन व्यवस्थित रखना चाहिये ।जिसके लिये स्कूल के शिक्षकों सहित अभिभावकों को छात्रों के दैनिक क्रियाकलापों पर ध्यान देकर उनके साथ सुसंवाद स्थापित करने की जरूरत है ।जिसके कारण अनेकों बार बच्चे गलत दिशा में जाकर नशे तक का शिकार होकर अपराध की तरफ बढ़ जाते हैं।

 जिसके लिये अभिभावकों सहित शिक्षकों को सावधान रहकर छात्रों को अच्छा संस्कार देने की पहल करनी चाहिये ।
  बतादें कि भिवंडी पुलिस उपायुक्त राजकुमार शिंदे ने परिमंडल दो के तहत आने वाले सभी पुलिस स्टेशनों के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षकों को उनकी सीमा में आने वाले स्कूलों में जाकर बाल अधिकार सुरक्षा सप्ताह कार्यक्रम का आयोजन करके छात्रों को जागरूक किया जाना था। जिसके तहत शांतिनगर पुलिस स्टेशन की वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक ममता डिसूजा द्वारा गणेश सोसायटी स्थित स्वामी विवेकानंद हिंदी हाईस्कूल एवं भोईवाड़ा पुलिस स्टेशन द्वारा विभिन्न स्कूलों में कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें पुलिस अधिकारियों द्वारा सातवीं से 10 वीं तक की कक्षाओं में पढ़ने वाली छात्राओं को बाल अधिकार एवं छोटी लड़कियों के साथ होने वाले यौन दुर्व्यवहार की रोकथाम,गुड टच एंड बैड टच, नशीले पदार्थों से दूर रहने,यातायात नियम,दुर्घटनाग्रस्त लोगों की मदद कैसे की जाये एवं बाल विवाह का विरोध करने की जानकारी दी गई।जिसमें वरिष्ठ पुलिस सुभाष कोकाटे,नितिन पाटील,हनीफ शेख एवं मनीष पाटील द्वारा छात्राओं को जागरूक रहकर निःसंकोच स्कूल के मुख्याध्यापकों को जानकारी देकर पुलिस की मदद करने का अनुरोध किया गया है। पुलिस अधिकारियों ने छात्राओं से किसी भी दुर्व्यवहार के दौरान अपने अभिभावकों सहित शिक्षकों को सूचना देकर आवश्यकता पड़ने पर पुलिस के फोन क्रमांक 1098 अथवा 100 नंबर पर कॉल करके सूचना देने का अनुरोध किया गया है । 

Post a comment

Blogger