Ads (728x90)

अजमेर | हिन्दुस्तान की आवाज | मोहम्मद मुकीम शेख

अजमेर शरीफ दरगाह मे जियरात के लिए हाजिर हुए अफगानिस्तान के सफिर अम्बास्सोडर ताहिर कादरी

ने अपने परिवार के साथ जियरात करी अफगानिस्तान और हिंदुस्तान केआपसी  रिश्तो मे तरक्की के लिए दुआ करी हाजी सय्यद सलमान चिश्ती गद्दी नशीन दरगाह अजमेर शरीफ ने उनकी दस्तर बंदी करके दुआ करी और दोनों मुल्को के आपसी रिश्तो मे अमन और शांति और कामियाबी की दुआ की साथ ही दोनों मुल्को के रूहानी रिश्तो की  बेहतरीन के लिए दुआ करी ।


अजमेर ख्वाजा ग़रीब नवाज़ के 809 वे उर्स मुबारक पर अफगानिस्तान की अवाम की तरफ से और  मुल्क के सादर  अशरफ गनी सहाब की तरफ से अमन का पैगाम और चादर मुबारक पेश करने की नियत करी अम्बास्सोडर ताहिर कादरी सहाब ने । 


हाजी सय्यद सलमान चिश्ती ने अम्बास्सोडर ताहिर कादरी साहब से अजमेर शरीफ और हेरात व चिश्त-ऐ-शरीफ को रूहानी शहर और सूफ़ी ट्विन सिटीस बनाने के लिए भी बात करी ताकि अधिकारित तोर से अफगानिस्तान सिफारतखाना और हिंदुस्तान के विदेशी मंत्रालय के साथ मिलकर हिंदुस्तान और अफगानिस्तान के रूहानी रिश्तो को आगे बढ़ाने की पहल करे। 



अम्बास्सोडर के साथ नियॉर्क टाइम के वरिष्ठ पत्रकार और उनके साथी भी जियरात के लिए आये ये सभी पहली बार दरगाह अजमेर शरीफ मे आये थे और इन सभी को ख्वाजा गरीब नवाज के बुलावे पर दरगाह की जियरात करके रूहानी सुकून का अहसास हुआ 

हाजी सय्यद सलमान चिश्ती ने जियरात के बाद सभी की दास्तांबंदी करी और ताबरूक भेंट किया । जियरात के बाद सभी ने  चिश्ती मंज़िल सूफ़ी खानका मे लंगर खाया और महफिले सामा मे शरीक हुए ।


सय्यद फैज़ चिश्ती ने सभी का शाल उड़ा के इस्तक़बाल किया । वापसी के वक़्त देहली गेट पर m.m khan  होटल

पर सभी ने अफगानी खाने की तारीफ करी और mm khan सहाब ने सभी का  शाल उड़ा के इस्तक़बाल किया ।

Post a comment

Blogger