Ads (728x90)

 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी ने पार्टी की सर्वोच्च नीति निर्धारण समिति कांग्रेस वर्किंग कमेटी के सदस्य के रूप मे यूपी मे किसानो तथा नौजवानो और सभी वर्गो के अधिकारो के लिए प्रभावी मुहिम का ऐलान किया है। सीडब्लूसी मेंबर बनाए जाने को लेकर पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी तथा राहुल गांधी एवं प्रियंका गांधी के प्रति आभार प्रकट करते हुए श्री तिवारी ने कहा कि वह अपनी इस नई बडी जिम्मेदारी को यूपी के 2022 के चुनाव मे प्रदेश मे कांग्रेस की वापसी तथा प्रदेश के खोये हुए विकास और गरिमा को लौटाये जाने के प्रति केन्द्रित रखेगें। शनिवार को सीडब्लूसी मेंबर बनने के बाद पहली बार रामपुरखास आये प्रमोद तिवारी ने विधायक आराधना मिश्रा मोना के कैम्प कार्यालय पर मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि पार्टी के केन्द्रीय नेतृत्व यह

जिम्मेदारी देकर उनके प्रति जो विश्वास व्यक्त किया है वह कार्यकर्ताओं का सहयोग एवं साथ लेकर भरपूर ऊर्जा से जनता के अधिकारो के प्रति संघर्ष को लेकर खरे उतरने का भरपूर प्रयास करेगें। श्री तिवारी ने इस उपलब्धि को अपनी स्वर्गीया मां के सार्वजनिक जीवन के पुण्य तथा पूर्वजों के सत्कर्मो की देन भी ठहराते हुए कहा कि मातृ नवमी के दिन वर्किग कमेटी का सदस्य बनने का आर्शीर्वाद उनके सार्वजनिक जीवन मे अत्यन्त महत्वपूर्ण अनुभूति करा सका है। श्री तिवारी ने पार्टी नेतृत्व के प्रति इस बात का भी आभार जताया कि उनकी भावनाओ का सम्मान करते हुए प्रदेश मे विधानसभा चुनाव सन्निकट होने की स्थिति मे अन्य प्रभार से मुक्त रखते हुए उन्हें उत्तर प्रदेश मे पूरी क्षमता से पार्टी संगठन तथा संघर्षो के ढांचे को मजबूत बनाए जाने के प्रति भी केन्द्रित रखे जाने का निर्णय लिया। वही प्रमोद तिवारी की इस उपलब्धि पर रामपुरखास तथा प्रतापगढ़ के कार्यकर्ताओं तथा लोगों की ओर से खुशी जताते हुए कांग्रेस विधानमण्डल दल की नेता आराधना मिश्रा मोना ने कहा कि प्रमोद तिवारी के सीडब्लूसी मेंबर बनने से रामपुरखास प्रतापगढ़ को पहली बार कांग्रेस जैसे महत्वपूर्ण राष्ट्रीय राजनीतिक दल की सर्वोच्च कमेटी मे प्रतिनिधित्व का अवसर भी एक और रिकार्ड लेकर आया है। कोरोना संक्रमण पर भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद द्वारा ग्यारह मई से चार जून 2020 के बीच कराए गये सीरो सर्वे का हवाला देते हुए प्रमोद तिवारी ने कहा कि जो आंकडे आये है कि माह मई मे ही कोरोना संक्रमितो की संख्या चौसठ लाख साठ हजार तक पहुंचने की आशंका की पुष्टि बेहद खतरनाक तस्वीर सामने ले आया है। उन्होनें कहा कि सरकार इसके विपरीत मई 2020 मे मात्र कोरोना संक्रमितो की संख्या एक लाख से कम होने का दावा कर रही थी। श्री तिवारी ने इस चौकाने वाले आंकडो के अन्तर की जांच की मांग उठाते हुए कहा कि यह देश की एक सौ तीस करोड़ जनता के साथ अक्षम्य अपराध हुआ है। सीडब्लूसी मेंबर प्रमोद ने कहा कि यदि ऐसा जानबूझकर हुआ है तो दोषियो के खिलाफ कार्रवाई हो और यदि अनजाने मे भी हुआ है तो भारत सरकार इसकी जांच कराये। उन्होने कहा कि मोदी सरकार कोरोना जैसी महामारी मे भी मौतों की स्थिति देश के सामने स्पष्ट न करने के अपराध बोध को लेकर देश से क्षमायाचना करे। चीन के मसले पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने मोदी सरकार पर लददाख की वास्तविक स्थिति स्पष्ट करने की मांग रखते हुए कहा कि पहले रक्षा मंत्री के स्तर पर और अब विदेश मंत्री के स्तर पर हुई बातचीत मे भी चीन ने एलएसी के भारतीय भूभाग पर असंवैधानिक कब्जे से हटने का आश्वासन नही दिया। श्री तिवारी के मुताबिक चीन ने अभी तक अपने कदम पीछे हटाने की भी स्थिति स्पष्ट नही की है। उन्होने प्रधानमंत्री मोदी से संवैधानिक दायित्व के निर्वहन की मांग करते हुए कहा कि वह लददाख की वास्तविक स्थिति से देश को फौरन अवगत करायें। कांग्रेस नेता ने तंज कसा कि प्रधानमंत्री यदि राष्ट्रीय सुरक्षा से जुडे हालात को मन की बात मे देश को नही बताना चाहते तो देश की संसद को बताएं। कांग्रेस नेता के मीडिया से बातचीत के दौरान मौजूद पार्टी विधानमण्डल दल की नेता आराधना मिश्रा मोना ने भी प्रदेश सरकार पर हमलावर होते हुए कहा कि इस समय प्रदेश मे लूट तथा भ्रष्टाचार और महिलाओं तथा बच्चियों के साथ बलात्कार व रोज हो रही हत्याओं से जंगलराज की भयावह स्थिति बन गई है। उन्होनें सरकार पर अपराध नियंत्रण तथा विकास के क्षेत्र मे भी असफलता का आरोप लगाते हुए कहा कि जनता मंहगाई तथा अराजकता व युवा बेरोजगारी को लेकर भाजपा के लोक लुभावन नारों से अब तंग आ चुके है। वार्ता के दौरान पं. श्यामकिशोर शुक्ल, ज्ञानप्रकाश शुक्ल, डा. नीरज त्रिपाठी, कपिल द्विवेदी, महेन्द्र शुक्ल, नरसिंह प्रकाश मिश्र, दानिश माबूद आदि मौजूद रहे।

Post a comment

Blogger