Ads (728x90)

भिवंडी।एम हुसेन।  निसर्ग चक्रवात के कारण  ठाणे जिला के शहापूर व मुरबाड तालुका के आदिवासी किसानों के भाजी सब्जी  के साथ ही इनके घरों का भी  भारी  नुकसान  हुआ है। राज्य सरकार ने शासकीय निकषानुसार नुकसानभरपाई न देकर सहानुभुती का निर्णय लेकर , शहापूर-मुरबाड  के किसानों के लिए  10 करोड़ रुपये की  निधि मंजूर करें , इस प्रकार की  आग्रही मांग भाजपा के सांसद  कपिल पाटील  ने  आज मुख्यमंत्री से की है ।
निसर्ग चक्रवात के कारण रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग, ठाणे एवं  पालघर जिला में  होने वाले  नुकसान की जानकारी लेने के लिए  मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे  ने  आज वीडियो कॉन्फरन्स  की ।उक्त अवसर पर सांसद  कपिल पाटील  ने यह मांग की है। ठाणे जिलाधिकारी कार्यालय  के  कॉन्फरन्स रुमम में  लोकप्रतिनिधियों ने  मुख्यमंत्री से संवाद  किया । उक्त अवसर पर  भाजपा के विधायक  संजय केलकर, रवींद्र चव्हाण, निरंजन डावखरे, कुमार ऐलानी, मनसे के  राजू पाटील, निरदलीय गीता जैन, जिलाधिकारी राजेश नार्वेकर, मुख्य कार्यकारी अधिकारी हिरालाल सोनवणे आदि सहभागी थे।
ठाणे जिला में प्रमुख रूप से  चक्रवात के कारण शहापूर व मुरबाड तालुका के आदिवासी बहुल  क्षेत्र में  भारी नुकसान हुआ है।यहां के सभी  किसानों के भाजी सब्जी के साथ ही  घरों को भी नुकसान पहुंचा है। राज्य सरकार की सहायता के निकषानुसार  किसानों को सहायता दी जाये,इनके  घर तुरंत  पूरे होंगे  जिसकारण उन्हें  बरसात के समय में खुले में ही रहना पड़ेगा ।इसलिए इस बाबत राज्य सरकार को सहानुभूति से  निर्णय लेना चाहिए  इस प्रकार की मांग सांसद  कपिल पाटील ने की है। शासकीय  रिपोर्ट के अनुसार ,100 हेक्टर क्षेत्र पर भाजी सब्जी का  नुकसान  हुआ है, परंतु इस मुसीबत में किसानों का भविष्य में भी उत्पन्न डूबने वाला है ।इसलिए  केवल प्रत्यक्ष भाजी सब्जी के नुकसान की ही सहायता देने के लिए  विचार न करें।तथा  किसानों के कुल उत्पन्न के अनुसार  सहायता दी जाये,इस प्रकार की मांग सांसद कपिल पाटील  ने की है। उक्त प्रकार की  मांग बाबत विचार करने के लिए आश्वासन मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने दिया है




Post a comment

Blogger