Ads (728x90)

 भिवंडी।एम हुसेन।भिवंडी के ग्रामीण क्षेत्र में दिनों दिन बढ़ रहे कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या को ध्यान में  रखते हुये ग्रामीण के अलग-अलग जगहों पर 2100 बेड का इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन सेंटर बनाने की तैयारी चल रही है ।जिसके तहत सावद में 950 बेड,गणेशपुरी स्थित नित्यानंद हॉस्पिटल में 400 बेड,भिनार स्थित आदिवासी आश्रमशाला में 400 बेड एवं दुगाड़फाटा स्थित साई होमियोपैथिक हॉस्पिटल में 350 बेड सहित कुल 2100 बेड का क्वारंटीन सेंटर बनाने की तैयारी चल रही है।इसी के साथ सांसद कपिल पाटील ने ठाणे जिला के सभी निजी चिकित्सालयों को कोविड अस्पताल बनाये जाने के लिये अधिग्रहीत करने की मांग की है ।
  इस संदर्भ में उपविभागीय अधिकारी डॉ. मोहन नलदकर ने बताया कि कोरोना संक्रमित मरीजों का उपचार करने के लिये सरकार द्वारा त्रिस्तरीय व्यवस्था डेडीकेटेड कोविड केयर सेंटर,डेडीकेटेड कोविड केयर हेल्थ सेंटर एवं डेडीकेटेड कोविड केयर हॉस्पिटल शुरू करने का आदेश दिया गया था। जिसके तहत भिवंडी बाईपास पर टाटा आमंत्रा में कोविड केयर सेंटर बनाया गया है, लेकिन कोरोना संक्रमित मरीजों के लिये वैकल्पिक  व्यवस्था के लिये संस्थात्मक क्वारंटीन केंद्र बनाना आवश्यक है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा आईजीएम उपजिला अस्पताल के साथ काल्हेर स्थित एसएस हॉस्पिटल एवं कोनगांव स्थित वेद हॉस्पिटल को अपने कब्जे में ले लिया गा है । लेकिन दिनों दिन बढ़ रही कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या को देखते हुये उपाय योजना तैयार किया गया है,जिसके तहत चार अलग-अलग  क्षेत्रों  के निजी अस्पतालों में इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन सेंटर बनाया जा रहा है।
 इसी प्रकार  सांसद पाटील ने की है निजी अस्पतालों के अधिग्रहण की मांग
 , ठाणे जिला में बढ़ रही कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या को लेकर सांसद कपिल पाटील ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से जिले के सभी निजी चिकित्सालयों को कोविड अस्पताल बनाने के लिये तत्काल अधिगृहीत करने की मांग की है।उन्होंने मुख्यमंत्री का ध्यान आकर्षित करते हुये कहा है कि निजी अस्पतालों का अधिग्रहण न किये जाने पर भविष्य में कोरोना संक्रमित मरीजों का उपचार  करने में भारी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है ।
     मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को भेजे गये पत्र में सांसद कपिल पाटील ने कहा है कि ठाणे शहर के साथ ही पूरे जिले में कोरोना का संक्रमण बड़ी तेजी से बढ़ रहा है। ठाणे शहर में 3300,कल्याण-डोंबिवली में 1166,भिवंडी शहर 185,बदलापुर 232 एवं ठाणे के ग्रामीण क्षेत्रों में 405 कोरोना संक्रमित मरीजों का नाम दर्ज किया गया है। कोरोना संक्रमित मरीजों के संपर्क में आने वाले ग्रामीण क्षेत्र में होम क्वारंटीन में 830 एवं इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन में 335 लोगों को क्वारंटीन किया गया है।
    सांसद कपिल  पाटील ने मुख्यमंत्री से कहा है कि मुंबई एवं ठाणे शहर में अत्यावश्यक सेवाओं में कार्यरत लोग ग्रामीण  क्षेत्रों में आते जाते हैं। जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमित मरीजों के बढ़ने की संभावना बनी हुई है। इस समय अस्पतालों में कोरोना मरीजों के उपचार के लिये बेड कम पड़ रहे हैं।ठाणे के सिविल अस्पताल में मरीजों को बेड न मिलने के कारण अनेक मरीज ठाणे एवं मुंबई के निजी अस्पतालों में भर्ती होने के लिये संपर्क कर रहे हैं ।जिसके लिये ठाणे जिला के सभी निजी अस्पतालों के अधिग्रहण करने की आवश्यकता है। जहां कोरोना संक्रमित मरीजों का निःशुल्क रूप से उपचार किया जा सकता है। सांसद पाटील ने इसके लिये मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ विरोधी पक्ष नेता देवेंद्र फड़णवीस,जिलाधिकारी डॉ. राजेश नार्वेकर,भिवंडी के उपविभागीय अधिकारी डॉ. मोहन नलदकर, कल्याण-डोंबिवली के मनपा आयुक्त विजय सूर्यवंशी एवं भिवंडी मनपा आयुक्त डॉ. प्रवीण आष्टीकर को पत्र की प्रति देकर सूचित किया है ।

Post a comment

Blogger