Ads (728x90)

 भिवंडी।एम हुसेन। कोरोना वायरस के बढते  संक्रमण को रोकने के लिये लागू किये गये लॉकडाउन के बाद से भिवंडी के साई फाउंडेशन द्वारा मजदूरों,गरीब एवं जरूरत मंद परिवारों को नाश्ता,भोजन  एवं खाद्य सामग्री आदि उपलब्ध कराया  जा रहा है। साई फाउंडेशन के अध्यक्ष प्रदीप बासू शेट्टी ने बताया कि मजदूरों एवं जरूरत मंद परिवारों के लिये पूर्व  25 मार्च से शुरू किया गया उनका एक छोटा सा यह प्रयास अभी भी निरंतर चल रहा है।
    उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के पहले चरण में उनकी टीम द्वारा भिवंडी एवं आसपास के 32 हजार परिवारों के घर-घर जाकर खाद्य सामग्री दी गई है। इसी  प्रकार  लॉकडाउन के दूसरे चरण में जब मजदूर पैदल अपने गांव जाने लगे तो उन्होंने मुंबई-नासिक  महामार्ग  पर स्थित स्वंय के साई ढाबा पर मजदूरों के  भोजन,नाश्ता,स्नान एवं शौचालय की सुविधा,छोटे बच्चों के लिये दूध की सुविधा,पैदल चलकर आने वाले मजदूरों के आराम करने एवं सोने की सुविधा उपलब्ध कराया था । रमजान के अवसर पर मुस्लिम  बंधुओं  के लिये रोजा खोलने की सुविधा भी उपलब्ध कराया गया था। पिछले ढाई महीने में लगभग दो लाख मजदूरों को यह सेवा उपलब्ध कराई गई थी ।
   इसके अलावा पैदल जाने वाले मजदूरों को महामार्ग से जाने वाली खाली बसों एवं ट्रकों से निःशुल्क भेजने की व्यवस्था की गई थी। एंबुलेंस की सुविधा न मिलने पर बीमार मजदूरों को अपनी गाड़ी से अस्पताल एवं जरूरत मंद लोगों को उनके घर तक पहुचाने की व्यवस्था की गई थी। अस्पताल में पहुंचाने वाले मजदूरों के उपचार में होने वाले खर्च की व्यवस्था भी फाउंडेशन द्वारा किया जाता था।इसके अलावा प्रवासी मजदूरों को लेकर जा रही 722 बसों के मजदूरों के लिये  भोजन की व्यवस्था भी किया गया था। रेलवे स्टेशनों पर जाकर प्रवासी श्रमिकों को भोजन,नाश्ता एवं बिस्किट आदि का वितरण किया गया था ।इसी प्रकार  प्रदीप शेट्टी ने बताया  कि फाउंडेशन का संकल्प है कि लॉकडाउन के कारण महामार्ग से जाने वाले अंतिम मजदूर तक के लिये यह सेवा बदस्तूर  जारी रहेगी ।

Post a comment

Blogger