Ads (728x90)

 -
भिवंडी में दिनोंदिन बढ़ते जा  रहे कोरोना के संक्रमण को लेकर मनपा मुख्यालय में आयोजित समीक्षा बैठक में ठाणेे जिला के पालकमंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा कि भिवंडी शहर एवं ग्रामीण  क्षेत्र  के कोरोना संक्रमित मरीजों के बेहतर स्वास्थ्य सुविधा करने के लिये राज्य सरकार कटिबद्ध है। कोरोना संक्रमित मरीजों के  उपचार  की व्यवस्था में मनपा प्रशासन को किसी भी तरह से निधि की कमी नहीं आने दी जायेगी। जिला प्रशासन एवं राज्य सरकार द्वारा धन उपलब्ध कराया जायेगा। उक्त  बैपठक में पालकमंत्री के साथ सांसद कपिल पाटील,महापौर श्रीमती  प्रतिभा पाटील,विधायक रईस कासम  शेख,शांताराम मोरे,जिलाधिकारी डॉ. राजेश नार्वेकर,उप विभागीय अधिकारी डॉ. मोहन नलदकर, मनपा आयुक्त डॉ. पंकज अशिया एवं भिवंडी पुलिस उपायुक्त राजकुमार शिंदे  सहित अन्य अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि  उपस्थित थे।
   समीक्षा बैठक में शहर एवं ग्रामीण  क्षेत्र  में बड़ी तेजी से बढ़ रही कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या एवं उनकी मृत्यु दर पर चिंता व्यक्त की गई और कोरोना संक्रमित मरीजों की जांच प्रक्रिया में तेजी लाने,नया क्वारंटीन सेंटर बनाने एवं अधिक से अधिक एंबुलेंस उपलब्ध कराने पर चर्चा की गई है  ।पालकमंत्री एकनाथ शिंदे ने कोरोना संक्रमित मरीजों के साथ अन्य बीमारियों के मरीजों को आवश्यक स्वास्थ्य सुविधायें प्रदान करने के लिये सरकारी स्तर पर एक अस्पताल उपलब्ध कराने का निर्देश मनपा प्रशासन को दिया है। उन्होंने भिवंडी के लिये 25 एंबुलेंस उपलब्ध कराने का भी आश्वासन दिया, पालकमंत्री ने कोरोना महामारी की इस लड़ाई में सभी समाज के योगदान पर बल दिया। पालकमंत्री ने मनपा आयुक्त डॉ. पंकज अशिया से कहा कि जो अस्पताल मरीजों का उपचार करने के लिये तैयार नहीं हैं उनके विरुद्ध कार्रवाई किया जाये।
 पालकमंत्री ने शहर में मोहल्ला क्लीनिक खोलने की चर्चा करते हुये कहा कि जहां भी मोहल्ला क्लीनिक खोली जा रही है, वहां उपचार के लिये ऑक्सीजन बेड एवं अन्य संसाधन उपलब्ध कराया जायेगा।शहर के निजी अस्पतालों को मरीजों के  उपचार  में किसी  प्रकार  की लापरवाही नहीं करनी चाहिये।मनपा द्वारा 15 दिन के लिये किये गए लॉकडाउन पर पालकमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या जहां अधिक है वहां लॉकडाउन कड़ा किया जा रहा है।इसी पत्रकारों द्वारा पूछे गये सवाल कि  पोगांव स्थित मनपा के प्रस्तावित अस्पताल की इमारत बारिश के दौरान रिसकी है ।अस्पताल बन जाने के बाद वहां बारिश के दौरान मरीजों को भारी परेशानी होगी। इसका  उत्तर  देते हुये पालकमंत्री ने कहा कि इसकी इसकी स्ट्रक्चरल एडिट मंगाई जायेगी इसकी जांच करने के बाद निर्णय लिया जायेगा ।       
  समीक्षा बैठक के दौरान  पालकमंत्री एकनाथ शिंदे ने अधिकारियों के साथ मनपा द्वारा पोगांव के एक गोदाम में प्रस्तावित अस्पताल का दौरा किया ।
   उक्त अवसर पर समाजवादी पार्टी  भिवंडी पूर्व विधानसभा के विधायक रईस कासम शेख ने अपने वक्तव्य में कहा कि  मैंने राज्य सरकार को 25 से अधिक पत्र लिखा था,मेरे पत्रों के आधार पर ही सभी चर्चायें हुई । पालकमंत्री की बैठक में जनप्रतिनिधियों के साथ ही चर्चा होनी थी इसके अलावा और किसी को नहीं शामिल किया जाना चाहिये  था परंतु  अन्य व्यक्तियों के शामिल होने के कारण इस बैठक में मुद्दे से हटकर राजकारण होने लगा इसलिए मैं विरोध जताते हुए बैठक से बाहर चला गया।

Post a comment

Blogger