Ads (728x90)

 भिवंडी शहर में  देह व्यापार करने वाली महिलाओं की बस्ती  हनुमान टेकडी क्षेत्र के  रूप में आज भी प्रसिद्ध है ।इस बस्ती में कल की अपेक्षा आज इस क्षेत्र की  महिलाओं ने  अगरबत्ती पैकिंग करने का चित्र  निर्माण किया है। उल्लेखनीय है कि  कोरोना संसर्ग  को रोकने के लिए यहां की महिलाओं के लिए  सामाजिक आरोग्य विषयक काम करने वाली श्री साई सेवा संस्थथा की प्रमुख डाॅ स्वाती खान द्वारा किये गये प्ररयासों के परिणाम स्वरुप लॉकडाउन के दौरान देह व्यापार  न करने व संसर्ग रोकने के लिए  शपथ लिया था। इस  दरम्यान अनेक सेवाभावी संस्थाओं के  माध्यम से  यहां की 565 महिलाओं को समय-समय से खाद्य  सामग्री  सहित अन्य जीवनावश्यक साहित्य का वितरण  किया गया था ।  परंतु लॉकडाउन के समय में जैसे जैसे  बढोतरी होते गई वैसे  वैैसे यहां के महिलाओं की चिंता बढने लगी बल्कि  दो समय का भोजन  मिलता था परंतु अन्य  खर्च  , घर के  किराये का भुगतान करने के लिए   किसके सामने  हाथ फैलाएं इस प्रकार की समस्याओं का समाधान जरूरी है जिसकारण  महिलाओं ने कहा  हमें  काम चााहिए इसके लिए निरंतर यह मांग करने लगीं। जिसे देखकर  संचालिका डाॅॅ स्वाती खान ने  तहसीलदार व उद्योगपतियों के माध्यम से यहां की महिलाओं  को काम उपलब्ध कराने के लिए ठान लिया था परिणाम स्वरुप  इनके  प्रयत्नों को सफलता मिली   और यहां की महिलाओं को अगरबत्ती पैकिंग करने का काम मिला है  इस प्रकार की जानकारी डॉ  स्वाती खान  ने देते हुए कि बताया कि यहां काम करने के लिए उत्सुक 25 महिलाओं को प्रथम चयनित कर उन्हें पंद्रह दिन का प्रशिक्षण दिया गया  उनका काम समाधानकारक पाया गया । अगरबत्ती पैकिंग का काम निरंतर शुरु रहेगा और प्रशिक्षण के समय महिलाओं को 210 रुपये प्रतिदिन मानधन स्वरूप  दिया जानेे लगा और सायंकाल  महिलाओं को हलदी दूध व उबले अंडे इस प्रकार  पौष्टिक आहार दिया जा रहा है। लॉकडाउन के दौरान हमें  संस्था के माध्यम से खाद्य  सामग्री मिला है परंतु  इस काम से  पैसों की समस्या  दूर ही गई है और यह काम इसी प्रकार चलता रहा तो हम सपरिवार देह व्यापार के  व्यवसाय से  बाहर  निकलने में सफल रहेंगे इस प्रकार का विश्वास देह व्यापार करने वाली महिलाओं ने व्यक्त किया है।

Post a comment

Blogger