Ads (728x90)

भिवंडी ।एम हुसेन। कोरोना वायरस के बढते संक्रमण को रोकने के लिए  देश भर में  लॉकडाउन कर दिया गया है। लॉकडाउन के कारण जिला परिषद स्कूलों में भी कामकाज बंद हो गए हैं तथा स्कूलों में छुट्टी घोषित कर दी गई है।परंतु शिक्षकों के शैक्षणिक काम में किसी प्रकार की कोई अडचन निर्माण न हो व कोविड-19 की  महामारी के कारण   शासन द्वारा दिए गए आदेशानुसार भिवंडी तालुका के  दाभाड व पिसे  केंद्र के कुल 28 स्कूल के मुख्याध्यापकों को ऑनलाइन  मार्गदर्शन  झुम एप के माध्यम से दाभाड व पिसे केद्र के  केंद्रप्रमुख  शामसुंदर दोंदे  ने  दिया है।
‘शाळा बंद पण शिक्षण सुरू'’ इस विषय पर शासन ने नये  टेक्नॉलॉजी का उपयोग करके ‘लर्निंग फ्रॉम होम’ हेतु  विविध शेक्षणिक ब्लॉग, वेबसाईट, दिक्षा एप, बोलो, स्वयंप्रभा, गुगल क्लास, पाठशाला, ई बालभारती, एस.एम.एस., टीवी, रेडियो के  द्वारा पालक व विद्यार्थियों को अभ्यास बाबत जागृती करने ।स्कूल  बंद होने के बावजूद भी शिक्षा जारी रखना । कोविड 19 बाबत विद्यार्थियों को जनजागृती करते हुए बीमारी  बाबत समाज में  भय का वातावरण व्याप्त न हो इसलिए  ‘विद्यार्थी कोविड योद्धा’ यशोगाथा तैयार करना , इस प्रकार का  विविध एप कैसे उपयोग किया जाता है  व उपयोग करने के समय किसी प्रकार का कोई  धोखा न ही इसे संज्ञान में लें । स्वयं  व समाज के सभी वर्गों को इस बीमारी  को संज्ञान में कैसे  लिया जाये , इस बाबत  ‘एससीईआरटी’ के  संचालक दिनकर पाटील, ठाणे ‘डायट’ के प्राचार्य जावले, ठाणे जिला परिषद शिक्षणाधिकारी ( प्राथ.) संगिता भागवत, भिवंडी गटशिक्षणाधिकारी निलम पाटील के आदेशानुसार झुम एप के माध्यम से लॉकडाउन के दौरान दाभाड व पिसे केद्र के मुख्याध्यापकों को केंद्रप्रमुख शामसुंदर दोंदे ने ऑनलाइन मार्गदर्शन दिया है  ।

Post a comment

Blogger