Ads (728x90)

भिवंडी ।एम हुसेन।  कोरोना  वायरस के बढते प्रभाव को रोकने लागू किये गये  लॉकडाउन  के कारण  असंख्य स्थलांतरित पावरलूम मजदूर  सहित अन्य मजदूर  भिवंडी में फंसे हुए हैं ।जिसके लिये  शासकीय यंत्रणा विशेष  ध्यान दे रही है,   भिवंडी शहर में इस काम का निरीक्षण करने के लिए  कोकण विभागीय आयुक्त शिवाजीराव दौड ने  आज सायंकाल  अचानक भिवंडी सहित  तालुका  के  कामकाज का  निरीक्षण किया , उक्त अवसर पर इनके साथ जिलाधिकारी राजेश नार्वेकर ,उपविभागीय अधिकारी डॉ मोहन नलदकर , भिवंडी पालिका आयुक्त डॉ प्रवीण आष्टीकर ,तहसीलदार शशिकांत गायकवाड , मनपा उपायुक्त दीपक कुरलेकर ,नगर रचना अधिकारी श्रीकांत देव ,भिवंडी पंचायत समिति के गटविकास अधिकारी घोरपडे आदि शासकीय अधिकारी उपस्थित  थे।  कोकण आयुक्त  ने निरीक्षण दौऱा कोन ग्रामपंचायत सीमाांतर्ग  जिला परिषद  किचन  व्यवस्था करने बाबत जानकारी ली ,सोनाले  स्थित   स्थलांतरित मजदूरों के लिये  बनाये गये  केंद्र पहुंचे  निरीक्षण किया और  अगले  कामकाज के लिये   कोकण आयुक्त चले गये। जिलाधिकारी राजेश नार्वेकर  ने  उपविभागीय कार्यालय स्थित  महसूल विभाग  अधिकारी कर्मचारी  की बैठक  लेकर  तालुका का काम  सही ढंग से  करने का आदेश दिया ।
        उक्त अवसर पर कोकण आयुक्त शिवाजीराव दौड जिलाधिकारी राजेश नार्वेकर  ने  भिवंडी शहर के  ताडाली क्षेत्र स्थित  निलेश चौधरी के सहकार्य की सहायता से  स्थलांतरित मजदूरों को भोजन कराना  शुरू किया गया है जिसमें  १२ हजार भोजन पैकेट वितरण करने वाले  किचन का निरीक्षण किया और यहां  सुनियोजित काम करने के लिये  प्रशंसा करते हुये कहा कि ज़रूरतमंदों की  भूख मिटाने के लिये  असंख्य लोकप्रतिनिधि,स्वयंसेवी संस्था, उद्योगपती व भूमाफिया  एवं किसानों की  जमीन हडप करने वालों द्वारा बहुत से स्थानों पर  नागरिकों द्वारा तैयार भोजन पैकेट वितरण किया जा रहा है ,परंतु  इस के माध्यम से  नागरिकों को दिया  जाने वाला  अन्न  अच्छा  व पौष्टिक हो  अन्यथा  इसके  माध्यम से दूसरी कोई समस्या उद्भवू न हो इसलिए  शासकीय यंत्रणा  ध्यान केंद्रित करे ऐसा स्पष्ट किया है।
          भिवंडी शहर में  अनेक स्वयंसेवी संस्था  भोजन पैकेट व  खाद्य सामग्री  स्वरूप में सहायता  वितरित कर रही हैं  जिसके  माध्यम से  शहर के  लाखों स्थलांतरित मजदूर सहित उनके परिवार की भूख मिटाई जा रही है  ।उक्त  काम में  सेवाभावी संस्था लोकप्रतिनिधियों का सहकार्य महत्वपूर्ण  है इस प्रकार की प्रतिक्रिया  शिवाजीराव दौड ने व्यक्त की है।


Post a comment

Blogger