Ads (728x90)

 भिवंडी ।एम हुसेन।  राष्ट्रीय लोकअदालत के अवसर पर भिवंडी तालुका कानूनी समिति द्वारा 178 मामलों का निपटारा करके वादी एवं प्रतिवादी को जहां न्याय दिया गया है, वहीं इन मामलों में न्यायालय द्वारा 52 लाख 94 हजार 119  रुपये  वसूल किया गया  है । जिसमें सबसे अधिक 824 क्रिमिनल कंपाउंडेबल अफेंस के और सबसे कम वैवाहिक विवाद के 21 मामलों का  समावेश है।
 उक्त संदर्भ में  जानकारी देते हुये एडवोकेट. अब्दुल  बाकी अंसारी ने बताया कि भिवंडी तालुका कानूनी समिति द्वारा आयोजित  इस लोकअदालत में मनी रिकवरी,क्रिमिनल कंपाउंडेबल अफेंस,वैवाहिक विवाद एवं सिविल मामलों सहित कुल 1532 मामले लिये गये थे । जिसमें से भिवंडी न्यायालय के प्रिंसिपल जज जे.वी.पालीवाल द्वारा 178 मामलों का निपटारा करके लोगों को न्याय दिया गया है , जिसमें न्यायालय द्वारा 52 लाख 94  हजार 119 रूपये की आर्थिक वसूली की गई है। उन्होंने बताया कि इस लोकअदालत में सबसे अधिक 824 क्रिमिनल कंपाउंडेबल अफेंस के मामले लिये गये थे, जिसमें 127 मामलों का निपटारा कर दिया गया है।  इसी  प्रकार  मनी रिकवरी के 222 मामलों में आठ मामले का  निपटारा  करके 16.44 लाख रूपये वसूल किया गया है।  वैवाहिक विवाद के 21 मामले लिये गये थे,जिसमें  केवल दो  मामलों का निपटारा  2  हुआ ।अन्य सिविल मामलों के 61 मामलों में से 13 मामलों का निपटारा किया गया है । धनादेश आदि के 404 मामलों में 28 मामलों का निपटारा  करके 36.50 लाख रुपया वसूल किया गया है। वर्षों से प्रलंबित मामलों का  निपटारा  करने  के लिए  प्रिंसिपल जज जे.वी.पालीवाल की अध्यक्षता में जज श्रीमती जे एस पंसारे, श्रीमती एम एस मोनगुली,श्री वी एस वाघमुडे ,श्रीमती पी एस बिटकर ।इसी प्रकार  न्यायालय की सहायक अधीक्षिका श्रीमती घोले सहित कलर्क  प्रवीण गुगले,वैभव काले एवं अण्णासाहेब रोकड़े ने विशेष  रूप से अथक प्रयास  किया है।         

Post a comment

Blogger