Ads (728x90)

 भिवंडी ।एम हुसेन।  छात्रों की राजनीति का केंद्र बने दिल्ली के जेएनयू में होने वाली  हिंसा के लिये वामपंथियों को जिम्मेदार मानते हुये अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की भिवंडी इकाई के कार्यकर्ताओं ने बीएनएन कॉलेज के प्रवेशद्वार पर प्रदर्शन करके नारेबाजी करते हुये कड़ा विरोध  जताया है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने यह विरोध प्रदर्शन कोकण प्रदेश के संयुक्त मंत्री दर्शन बाबरे,महानगर मंत्री ओजस जयवंत,ठाणे जिला संयोजक राजस जयवंत,अमित तिवारी एवं कमल उपाध्याय के नेतृत्व में किया ,जिसमें भारी संख्या में छात्र शामिल थे ।
   इस दौरान दर्शन बाबरे ने कहा कि जेएनयू में वामपंथी संगठन सेमिस्टर फॉर्म भरने में बाधा उतपन्न कर रहे थे ,वामपंथी संगठनों के कार्यकर्ताओं ने सामान्य छात्रों को फॉर्म भरने नहीं दिया। ऑनलाइन फॉर्म जमा करने के अंतिम दिन तक सर्वर बंद रखा ,कैंपस में विवेकानंद के पुतले का अपमान भी किया, वामपंथियों के इस कृत्य का विरोध कर रहे अभविप के कातकर्ताओं के ऊपर रॉड एवं चापर आदि से हमला किया गया था ।जिसमें 25 से  अधिक  छात्र घायल हुये थे। जिन्हें  उपचार हेतु   एम्स में भर्ती कराया गया  है जहां  उपचार  चल रहा है। वामपंथी संगठनों के छात्रों का विरोध करते हुये अभविप के छात्रों ने वामपंथी की कबर खुदेगी सावरकर की धरती पर,लाल गुलामी तोड़ के बोलो,बोले वंदे मातरम की जमकर नारेबाजी की गई  ।

Post a comment

Blogger