Ads (728x90)

संवाददाता, भिवंडी । भिवंडी तालुका पंचायत समिति अंतर्गत २०१३ से २०१९ के कालावधि में तालुका आरोग्य अधिकारी इस  पद पर कार्यरत रहते हुए डॉ. तरुलता धानके ने उत्कृष्ट रूप से काम किया था। भिवंडी पंचायत समिति सभागृह द्वारा मासिक सभा में सभी की सम्मति से  ठराव मंजूर कर उनका हृदय सत्कार किया गया। तालुका आरोग्य अधिकारी के रूप में कार्यरत  डॉ.तरुलता धानके ने पालघर ,डहाणू ,जव्हार ,मोखाडा ,तलासरी ,वाडा इन आदिवासी बहुल क्षेत्रों में आने वाले लाभार्थी ,ईट भट्टी का सर्वेक्षण कर कुल लगभग   चार सौ से  पांच सौ ईटभट्टी स्थलों का  सर्वेक्षण कर इसमें आने वाले ४५० गर्भवती महिलााएं  , ५०० प्रसूती महिलएं ,जीरो से पांच वर्ष तक के लगभग पांच हजार बच्चों का सर्वेक्षण कर सूक्ष्म कृती रिपोर्ट तैयार कर ट्रेकिंग कर उन्हें सौ प्रतिशत आरोग्य सेवा उपलब्ध कराने का महत्वपूर्ण काम कियाा है। ईटभट्टी मालिकों में जनजागृती निर्माण होने के लिए   ईट भट्टी मालिकों का कार्यशाला स्वयं के संकल्पना से लिया। कई स्थानों पर महिलाओं में जनजागृती हेतु सम्मेेलन का  आयोजन कर उनका मार्गदर्शन किया। इसके लिए ग्रामपंचायत द्वारा आयोजित सम्मेलन में सतत मार्गदर्शन किय।
            ईटभट्टी पर बच्चों के लसीकरण के लिए व गर्भवती महिलाओं की जांच ईट भट्टी जत्रा इस नाम से नवीन संकल्पना कर उन्हें वहीं टोपी ,पिपिहरी ,सिटी छोटे बच्चों को वितरित कर  सफल प्रयोग किया। मासिक के समय व्यवस्थापन इस कार्यक्रमांतर्गत स्कूलों में आठवीं से दसवीं किशोरी बच्चियों को प्रशिक्षक तैयार कर किशोरवयीन बच्चियों का मार्गदर्शन करने का काम किया है। इसी प्रकार उक्त उपक्रमाअंतर्गत बालविवाह,समतोल आहार इस विषय पर प्रशिक्षक तैयार कर स्कूलों की किशोरवयीन बच्चियों का मार्गदर्शन किया, तालुका आरोग्य अधिकारी  के कालावधी में बालमृत्यू दर में कमी करने में सफलता हासिल की। दो बच्चों के बाद कुटुंब कल्याण शस्त्रक्रिया करने वाले पति पत्नी को सतत सत्कार कर बच्ची  जन्म होने पर स्वागत कर समाज में जागृती निर्माण की है। दाभाड व दिवेअंजूर प्राथमिक आरोग्य केंद्र को दिल्ली के दरबार में राष्ट्रीय गुणवत्ता नामांकन प्राप्त कराया है। उक्त सामाजिक उपक्रमों को सफलतापूर्वक प्रत्यारोपण करते हुए भिवंडी पंचायत समिति की सभापती रविना जाधव व उपसभापती वृषाली विशे ने एकमत होकर ठराव मंजूर कर के डॉ. धनके का विशेष सत्कार किया है। उक्त प्रकार से सत्कार होने के बाद उत्तर देते हुए डॉ.तरुलता धानके ने  कहा कि अच्छे काम करने के बाद उन्हें बधाई देना उनकी प्रशंसा करना तथा प्रोत्साहन देना यह उन्नत समाज के लक्षण हैं। यदि ऐसा नहीं हुआ तो अपने समाज की मूल्यव्यवस्था चरमरा गई है। भिवंडी के सभी लोकप्रतिनिधियों द्वारा सर्वसम्मति से ठराव मंजूर कर जो मेरा  सत्कार किया गया है यह मेरे ऊपर कर्ज है। 

Post a comment

Blogger