Ads (728x90)

नागरिकों को दो महीने में यातायात बाधित समस्या से मिलेगी मुक्ति

संवाददाता, भिवंडी ।मुंबई - नाशिक महामार्ग पर रांजणोली बायपास नाका स्थथित उड्डाण पुल का दाएं ओर केे मार्ग पर  ५० मीटर लंबी लोहे के गार्डर गुरुवार  रात में लगाय आगया है और आगामी दो महीने में इस उड्डाण पुल पर वाहनों का आवागमन शुरु होने वाली है।इससे प्रतिदिन की यातायात बाधित की समस्या से नागरिकों को बहुत जल्द मुक्ति मिलने वाली है।
      उल्लेखनीय है कि मुंबई - नाशिक महामार्ग पर  प्रतिदिन प्राणघातक यातायात बाधित  होती है जिसे ध्यान में रखते हुए एमएमआरडीए प्रशासन द्वारा  आठ वर्ष पूर्व भिवंडी तालुुका के माणकोली नाका ,रांजणोली बायपास नाका आदि स्थान पर उड्डाणपुल निर्माण काम शुरु किया है। परंतु रांजणोली बायपास नाका स्थित उड्डाणपुल  के ठेकेदार कंपनी द्वारा घोर लापरवाही से काम करने के कारण उड्डाणपुल का निर्माण कार्य अधूरा रह गया था। इस बाबत नागरिकों में भारी आक्रोश था जिसे संज्ञान में लेते हुए  मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने छह  महीने पूर्व नये ठेकेदार कंपनी नियुक्त करने हेतु निर्देश दिया था।जिसके अनूसार एमएमआरडीए प्रशासन ने बांधकाम क्षेत्र में प्रसिद्ध मानी जाने वाली आर.पी.एस.इन्फ्रा.प्रोजेक्ट प्रा.लि.नामक बांधकाम कंपनी की नियुुक्ति कर  सलाहकार के रूप में टेक्नोजीन कन्सल्टन्ट की नियुुक्ति की है। यातायात बाधित होने की समस्या से वाहन चालक व नागरिकों को मुक्त करने के लिए आर.पी.एस.इन्फ्रा.प्रोजेक्ट प्रा.लि.कंपनी प्रशासन ने सुरक्षित मापदंड को ध्यान में रखते हुए आगामी तीन महीने में दाएं मार्ग पर ५० मीटर लंबी ६ लोहे के गार्डर लगाने में सफल  हो गए हैं। तथा आगामी कुछ दिनों  में स्लॅब का काम पूरा कर लिया जाएगा परिणामस्वरूप  वाहन चालकों सहित नागरिकों को याताायात बाधित की समस्या से मुक्ति मिल जाएगी।               

Post a comment

Blogger