Ads (728x90)

 
मुंबई: लोक अधिकार परिषद द्वारा  वडाला के अंटाप हिल के  नानाभाई वाड़ी, बरकत अली नगर बुद्ध विहार, आनंद वाड़ी का मुख्य मैदान,  गौतम नगर आंगन वाड़ी, नानाभाई वाड़ी आंगनवाड़ी के सामने, आनंद वाड़ी बुद्ध विहार, पंचशील बुद्ध विहार में विद्यालय के जरूरतमंद विद्यार्थियों को मुफ्त नोटबुक व छत्री का वितरण किया गया  | इस अवसर पर लोक अधिकार परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष मोहम्मद मुकीम शेख औऱ बॉम्बे स्कॉटिश स्कूल माहिम कक्षा 9 से 12 के विद्यार्थियों के हाथों सैकड़ों जरूरतमंद छात्रों को नोटबुक व छत्री मुफ्त में प्रदान की गई |  उक्त अवसर पर लोक अधिकार परिषद के पदाधिकारियों के साथ बॉम्बे स्कॉटिश स्कूल के विद्यार्थियों ने कार्यक्रम को सफल बनायें जाने के लिए सराहनीय कार्य किया, उक्त अवसर पर  विभिन्न विद्यालयों के विद्यार्थियों सहित भारी संख्या में स्थानीय नागरिक उपस्थित रहे.

गौरतलब है कि घाटकोपर पश्चिम स्थित लोक अधिकार परिषद  ट्रस्ट संस्था समाजसेवा के लिए समर्पित यह संस्था जररूरत मंद लोगों की सेवा के लिए अनेक प्रकार के कार्यक्रम संचालित करती है | अब तक हजारो लोग संस्था के सेवा कार्यों से लाभान्वित हो चुके हैं |

इस संस्था की स्थापना  सन 2005 को  समाजसेवक /पत्रकार मोहम्मद मुकीम शेख ने की थी |उस समय वे गरीबों को अस्पताल में भर्ती कराने ,उन्हें दवा आदि उपलब्ध कराने का काम करते थे| मोहम्मद मुकीम शेख की लगन और सेवा कार्यों से प्रभावित होकर उनके दोस्तों ने भी उनके काम में हाथ बटाना शुरू कर दिया | कुछ समय बाद मोहम्मद मुकीम शेख पूरी तरह से सेवा के कार्य में  ही संलग्न हो गए  और  इस नागरिको  की सेवा को ही जिंदगी का लक्ष्य बना लिया |

धीरे धीरे ट्रस्ट  का दायरा बढ़ने लगा |जब नए नए लोग संस्था से जुड़ने लगे तो संस्था का सेवा कार्य भी बढ़ने लगा | अब गरीबो को अस्पताल में भर्ती करने ,गरीब मरीजों की दवा का प्रबंध करने ,गरीब छात्रों को नोटबुक ,फीस आदि उपलब्ध करने ,आदिवासी क्षेत्रों के गरीबों को कपडे और खाद्यान्न आदि के वितरण का काम करती है |  इन सेवा कार्यों के लिए  उन्हें अनेक पुरस्कारों  से सम्मानित भी किया जा चूका है | लोक अधिकार परिषद ट्रस्ट का मुख्य कार्यालय पनखेशाह बाबा एसआरए सोसायटी ,दामोदर पार्क के पास , लालबहादुर शास्त्री मार्ग ,घाटकोपर पश्चिम ,मुंबई -86 में है |अधिक जानकारी के लिए फोन नं 9869402786 / 8575782786  पर संपर्क कर सकते हैं |

Post a comment

Blogger