Ads (728x90)

- राज्यपाल चे. विद्यासागर राव का आवाहन

 मुंबई, 30 : महाराष्ट्र राज्य देश के अंतर्गत तथा विदेशी निवेश के लिए सर्वाधिक आकर्षण का स्थान है और इसी कारण महाराष्ट्र देश का आर्थिक शक्ति केंद्र है. देश के बुनियादी विकास में महाराष्ट्र की भूमिका महत्वपूर्ण है, ऐसा बताते हुए राज्यपाल चे. विद्यासागर राव ने महाराष्ट्र राज्य स्थापना के 59 वे वर्धापन दिवस के उपलक्ष्य में नए और बलशाली महाराष्ट्र के निर्माण के लिए सबके द्वारा एकत्रित आने का आवाहन किया.

महाराष्ट्र दिवस का मुख्य सरकारी समारोह आज शिवाजी पार्क में राज्यपाल की प्रमुख उपस्थिति में हुआ. इस समय वे बोल रहे थे. इस समय कार्यक्रम में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, केंद्रीय राज्यमंत्री रामदास आठवले, राज्य के शालेय शिक्षण मंत्री विनोद तावडे, मुंबई के महापौर विश्वनाथ महाडेश्वर,  मुख्य सचिव यु. पी. एस. मदान, पुलिस महासंचालक सुबोधकुमार जयस्वाल, राजशिष्टाचार विभाग के प्रधान सचिव नंदकुमार के साथ राज्य के पुलिस दल के वरिष्ठ अधिकारी, विविध देशों के कौन्सुलेट जनरल आदि मान्यवर उपस्थित थे. इस समय राज्यपाल ने जनता को महाराष्ट्र दिवस तथा आंतरराष्ट्रीय कामगार दिवस की शुभकामनाएं दी.

            महाराष्ट्र खेती, औद्योगिक उत्पाद, व्यापार और परिवहन क्षेत्र में देश का अग्रणी राज्य है. देश में अत्यंत विकसित और समृद्ध राज्यों में महाराष्ट्र का समावेश है, ऐसा राज्यपाल ने बताया. उन्होंने कहा कि, महाराष्ट्र को पहले नंबर का राज्य बनाने में  मुंबई का बड़ा योगदान है.  मुंबई शहर में अधिकांश बैंक, उद्योग समूह और वित्तीय संस्थाओं के मुख्यालय हैं. देश का सबसे बड़ा शेअर बझार और विश्व प्रसिद्ध फ़िल्म नगरी इसी शहर में है. मुंबई  भारत के महत्वपूर्ण बंदरगाहों में से एक है, यहां से बड़े पैमाने पर विदेशी व्यापार चलता है. औद्योगिक उत्पादन,आर्थिक और सेवा क्षेत्र का यह एक महत्वपूर्ण केंद्र बना है. सूचना तकनीकी और वाहन उद्योग निर्मिति क्षेत्र का प्रमुख केंद्र के रूप में पुणे शहर उभर रहा है. नागपुर, कोल्हापुर और सोलापुर शहर भी विकास के शक्ति केन्द्र है.
सुरक्षित सायबर सेवा देने में राज्य अग्रणी
सायबर सुरक्षा का अमल और नागरिक तथा उद्योग व्यवसायों को सुरक्षित सायबर सेवा देने में महाराष्ट्र अग्रणी है. उद्यमशीलप्रगतिशीलव्यावहारीक और कड़ा परिश्रम करनेवाले नागरिक राज्य की बड़ी शक्ति है. महाराष्ट्र शांतिप्रगति और सर्वसमावेशक विकास की दिशा में जा रहा हैऐसा विश्वास राज्यपाल के जताया.
सामाजिक सुधार में महाराष्ट्र अग्रणी
सामाजिक सुधार के संदर्भ क्षेत्र में महाराष्ट्र हमेशा अग्रणी रहा हैऐसा राज्यपाल ने बताया. उन्होंने कहासामाजिक समताशिक्षणमहिला सक्षमीकरण और अंधविश्वास उन्मूलन करने के लिए अपनी जी जान लगनेवाक़े नेताओं की परंपरा  इस राज्य को है. छत्रपति शिवाजी महाराजमहात्मा जोतिबा फुलेक्रांतिज्योति सावित्रीबाई फुलेराजर्षि छत्रपति शाहू महाराजभारतरत्न डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर जैसे महान और समाजसुधारक नेताओं का आज स्मरण करना औचित्यपूर्ण होगाऐसा उन्होंने कहा.
महाराष्ट्र की विविधता में भारत का दर्शन
महाराष्ट्र की विविधता से संपूर्ण भारत का दर्शन होता हैऐसा बताकर राज्यपाल श्री. राव ने कहा किदेश में सर्वाधिक साक्षरता का प्रमाण होनेवाले राज्यों में से महाराष्ट्र एक राज्य है. विश्वभर से विद्यार्थीसंशोधक और अभ्यासकों को आकर्षित करनेवाले उच्च दर्जे के विश्वविद्यालय और व्यावसायिक पाठ्यक्रम की शैक्षिक संस्थाएं राज्य में हैं. विलोभनीय समुंदर किनारेपरबतवनगड़किलेनदिया आदि से अपना राज्य प्राकृतिक सौंदर्य से समृद्ध हुआ है. विपुल जैव विविधता से सजा हुआ ताडोबामेलघाटपेंच जैसे अभ्यारण्य राज्य में हैइससे पर्यटक भी राज्य की ओर आकर्षित हुए है.
इस अवसर पर सशस्त्र पुलिस दलदंगा नियंत्रण पथकमहिला पुलिस दलनिशाण टोली मुंबई लोहमार्ग पुलिसबृहन्मुंबई यातायात पुलिसमुंबई दमकल दलमहापालिका सुरक्षा दलसुरक्षा रक्षक मंडलब्रास बँड पथकपाइप बँड पथक आदि दलों के संचलन किया. बृहन्मुंबई पुलिस और दमकल दल के वाहनों का प्रस्तुतिकरण भी इस समय किया गया. अग्निशमन दल का हॅजमेट वाहनफोम टेंडर वाहनमिनी फोम टेंडर वाहन आदि ने संचलन में सहभाग लिया.
इसके बाद राज्यपाल श्री. रावमुख्यमंत्री श्री. फडणवीस समेत अन्य मान्यवरों ने क्रीड़ा भवन में महाराष्ट्र दिवस के उपलक्ष्य में बृहन्मुंबई महापालिका की ओर से आयोजित कार्यक्रम में सहभाग लिया.

Post a comment

Blogger