Ads (728x90)

भिवंडी मनपा क्षेत्र अंतर्गत  निजामपुर क्षेत्र स्थित पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा बनाई गई बौद्धवाडा की पुरानी पुलिस चौकी को कुछ मनपा अधिकारी व कर्मचारियों ने बिल्डरों के साठगांठ कर जेसीबी और डंपर की सहायता से पुलिस चौकी तोड़ कर ध्वस्त कर दिया गया है , साथ ही चौकी में लगे डेढ़ लाख के साधन सामग्री चोरी से उठाकर अन्यत्र दी गई थी। इस मामले में निजामपुर पुलिस ने मामला दर्ज कर मनपा बांधकाम विभाग के रोड खाते व अतिक्रमण विभाग में काम करने वाले मुकादम नईम शेख व शमसुज्जमा मोहम्मद ईशा अंसारी को पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जिसे न्यायालय ने पुलिस द्वारा गिरफ्तार दोनों मनपा कर्मचारियों को 16 जनवरी तक पुलिस हिरासत में रखने का आदेश दिया है। मनपा कर्मचारियों की गिरफ्तारी के बाद मनपा बांधकाम विभाग में कार्यरत रोड खाते के कर्मचारी मुकादम नईम शेख को मनपा उपायुक्त दीपक कुरलेकर ने सोमवार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। मनपा प्रशासन द्वारा एक ही कर्मचारी को निलंबित कर और अन्य कर्मचारियों का बचाव किए जाने पर भिवंडी शहर में आश्चर्य व्यक्त किया जा रहा है व घोर निंदा की जा रही है । इसी प्रकार पुलिस द्वारा इस मामले में तीन बिल्डर व तीन मनपा कर्मचारी सहित 6 लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया है। जिसमें से तीन बिल्डर हैं जिनकी आज तक गिरफ्तारी पुलिस नहीं कर सकी है। इसलिए इस मुद्दे को लेकर पुलिस पर भी सवालिया निशान खडे हो रहे हैं और पुलिस पर मैनेज होने की भी चर्चा की जा रही है । गौरतलब हो कि राज्य शासन के गृह विभाग के आदेशानुसार 1986 में भिवंडी शहर स्थित बौद्धवाडा  पुलिस चौकी का निर्माण किया गया था।जिसे मनपा कर्मचारियों और बिल्डरों ने पुलिस विभाग को किसी प्रकार की पूर्व सूचना न देते हुए जेसीबी की सहायता से सरकारी इमारत को तोड़कर  उसमें से निकले हुए डेढ़ लाख के सामान को डंपर द्वारा रात के समय चोरी से अन्यत्र जगह रख दिया गया। इस बात की जानकारी मिलने पर निजामपुर पुलिस स्टेशन ने मामला दर्ज किया है। ऐसा माना जा रहा है कि इस पुलिस चौकी को तोड़ने के काम में मनपा के अधिकारी व कर्मचारी ने बिल्डरों से सांठगांठ कर महंगी जगह को हड़पने के उद्देश्य जानबूझकर पुलिस चौकी तोड दिया है । सूत्रों के अनुसार जिसके आधार पर  पुलिस ने अपनी जांच शुरू की है। इस मामले में पुलिस ने बिल्डर मुदस्सीर नदीम बरडी, फैजल रशीद अबूजी, मुनव्वर गुलाम रसूल शेख मुजाहिद अंसारी सहित 6 लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज किया है। इस मामले में निजामपुर पुलिस ने केवल नईम व शमसुज्जमा नामक दो मनपा कर्मचारी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां न्यायालय ने दोनों को 16 जनवरी तक पुलिस हिरासत में रखने का आदेश दिया है। वहीं मनपा के तीसरे नामजद कर्मचारी और तीनों बिल्डरों को अभी तक पुलिस गिरफ्तारी नहीं कर सकी है। जिसे लेकर शहर में तरह-तरह की चर्चाएं हो रही हैं ।और आरोपियों के विरुद्ध कार्रवाई  कर उन्हें गिरफ्तार करने वाली पुलिस खुद ही शहर की जनता के सामने कटघरे में खड़ी है तथा यह प्रश्न प्रस्तुत कर रही है क्या यही न्यायिक प्रक्रिया है?

Post a comment

Blogger