Ads (728x90)

संवाददाता, भिवंडी ।भिवंडी में पिछले 5 दिनों से हो रही मूसलाधार बरसात में भिवंडी शहर से सटे भिवंडी ग्रामीण भाग के कारीवली ग्राम पंचायत  अंतर्गत जेवीसी  कंपाउंड, 72 गाला में प्रियंका काम्पलेक्स नामक दो मंजिला इमारत मंगलवार की रात ताश के पत्तों की तरह भरभराकर ढह गई । इमारत के गिरने से क्षेत्र में हडकंप मच गया है। इमारत के नीचे चल रहे पावरलूम कारखाने में काम करने वाले मजदूरों की सतर्कता के कारण इस बड़ी दुर्घटना में कोई जनहानि नहीं हुई ।इस इमारत के गिरने से भिवंडी के ग्रामीण भाग में तथा गोदाम क्षेत्र में जर्जर इमारतों पर प्रश्नचिन्ह खड़ा हो गया है।
           गौरतलब हो कि भिवंडी शहर से सटे कारीवली ग्राम पंचायत क्षेत्र में नियम कानून को ताक पर रखकर भारी संख्या में अवैध रूप से निर्माण कर इमारत और गोदाम निर्माण किए गए हैं ।इसी प्रकार भिवंडी वसई- रोड स्थित कारीवली ग्राम पंचायत क्षेत्र के 72 गाला में केवीसी कंपाउंड स्थित प्रियंका काम्पलेक्स भी निकृष्ट दर्जे के निर्माण कार्य के द्वारा तल मंजिल सहित दो मंजिला इमारत का निर्माण किया गया था। जिसके तल मंजिले पर पावरलूम कारखाना, गोदाम व दुकानें बनी हुई थीं । जिसमें कल सुबह दीवार का प्लास्टर टूटने तथा उसमें से मिट्टी सीमेंट गिरता देख कर उसमें काम करने वाले मजदूरों ने पावरलूम कारखाना मालिक को जानकारी दी ।दुकान गोदाम व कारखाना से सभी मजदूर बाहर निकल गए।  इस इमारत का निर्माण रेवा भाई मेहता नामक बिल्डर ने किया था। जिसने कारखाना दुकान और गोदाम बना कर बेंच दिया था। ऐसी जानकारी पावरलूम कारखाना मालिक सिद्धेश शहा ने दिया है । इमारत कमजोर हो गई इस प्रकार की शिकायत दुकानदारों व अन्य गोदाम मालिकों तथा कारखाना मालिकों ने की थी। उसके बावजूद बिल्डर ने टालमटोल किया। विगत 5 दिनों से हो रही मूसलाधार बरसात से इमारत में कल दिन भर पानी गिरने के बाद मिट्टी और सीमेंट गिरने लगी। इस धोकादायक इमारत के दुकानदारों ने उसी रात भोईवाड़ा पुलिस स्टेशन में इस बात की शिकायत दर्ज कराई ।लोगों की शिकायत के बाद भोईवाडा पुलिस ने इमारत की मौके पर जाकर जांच शुरू की। पुलिस जांच कर रही थी उनके सामने ही इमारत का यह भाग भरभराकर गिर पड़ा । इस दुर्घटना की जानकारी भोईवाड़ा पुलिस ने भिवंडी महानगरपालिका के आपात्कालीन विभाग व अग्निशमन दल  को दी। घटना की सूचना मिलते ही आपात्कालीन विभाग के कर्मचारी तथा अग्निशमन दल के कर्मचारी तत्काल घटनास्थल पर पहुंचकर सहायतार्थ कार्य शुरू किया।  बुधवार को देर तक ग्राम पंचायत के अधिकारियों व कर्मचारियों को इस दुर्घटना की जानकारी नहीं मिलने पर नागरिकों द्वारा आश्चर्य  व्यक्त किया जा रहा है।तथा सरकारी यंत्रणा पर भी प्रश्न चिन्ह लग रहा है? 

Post a comment

Blogger