Ads (728x90)

भिवंडी। एम हुसेन। भिवंडी संघर्ष समिति द्वारा शहर के विभिन्न क्षेत्रों में अनोखे तरीके से गड्ढा भरो आंदोलन किया गया। जिसमें मनपा का विरोध करने के लिए सड़कों पर हुए असंख्य गड्ढों को जगह-जगह भरा गया। उसके साथ बड़े गड्ढों में जहां पर पानी भरा था, उसे स्विमिंग पूल बताकर खड़क रोड़ पर कुछ लोगों ने स्नान किया। उसी के साथ गहरे गड्ढों में पेड़ लगाकर विरोध किया गया।  नागरिकों को सड़कों के गड्ढों से होने वाली शरीर में दर्द और कमर की तकलीफ को बर्दाश्त करने के लिए पेन किलर बांटा गया। आंदोलन का नेतृत्व कर रहे भिवंडी संघर्ष समिति के अध्यक्ष व भिवंडी खानदेश सेना के अध्यक्ष सुहास दादा बोंडे ने बताया कि भिवंडी की सड़कें गड्ढा मय हो गई हैं । जिन पर चलना जान हथेली पर लेकर चलने के समान है। मनपा प्रशासन पर  प्रहार करते हुए बोंडे ने कहा कि यह मनपा प्रशासन के मुंह पर तमाचा है। हम जनता की भावना को मनपा तक पहुंचाने का काम  प्रदर्शन के द्वारा कर रहे हैं। संघर्ष समिति के प्रमुख सलाहकार शिवसेना नेता मोहन वल्लाल ने बताया कि यदि मनपा इस प्रदर्शन के बाद भी सड़कों के गड्ढों को दुरुस्त करने तथा सड़कों को सुधार कर जनता की परेशानियों को दूर करने में ध्यान नहीं दिया, जल्द से जल्द सड़कें ठीक नहीं की गई तो इसके बाद संघर्ष समिति सड़कों पर उतर कर बड़ा आंदोलन शुरू करेगी ।उक्त आंदोलन में सुभाष दादा बोंडे, मोहन वल्लाल, प्रवीण भाई, वसंत परमार, प्रशांत, राजू भाई, बाबूलाल  सहित भारी संख्या में महिलाएं और संघर्ष समिति के सदस्य शामिल थे।

Post a comment

Blogger