Ads (728x90)


भिवंडी। एम हुसेन । भिवंडी शहर के निकट खाड़ीपार क्षेत्र के क्रांति नगर में  पड़ोसी से हुए मामूली  झगड़े में पड़ोसी ने युवक प्रतीक गायकवाड 30 की चाकू घोंपकर हत्या कर दी।इस हत्या की घटना के बाद आरोपी रघुनाथ पवार परिवार के साथ घटनास्थल से फरार हो गया। लेकिन निजामपुर पुलिस ने जाल बिछाकर कुछ ही घंटों में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। जिसे सोमवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा।
               प्राप्त जानकारी के अनुसार घटना के दिन रात में बिजली चली गयी थी। मृतक प्रतीक उर्फ गलाय लहू गायकवाड दारू के नशे में आया और गाली देने लगा ।उस समय पड़ोसी रघुनाथ पवार ने उसे हटाया और कहा कि गाली मत दो बिजली पूरी बस्ती की गई हुई है केवल तुम्हारी नहीं। इसी बात को लेकर दोनों में काफी झगड़ा हुआ। सूत्रों के अनुसार प्रतीक नशे की हालत में गाली गलोज करते हुए रघुनाथ के घर में घुस गया और मारपीट शुरु कर दी। घर में ही दोनों के बीच धक्का-मुक्की और हाथापाई हुई। उसी समय रघुनाथ ने सब्जी काटने के धारदार चाकू से प्रतीक के छाती पर हमला कर दिया। छाती में चाकू घुसते ही प्रतीक के शरीर से खून निकलने लगा प्रतीक बेहोश होकर जमीन पर गिर पड़ा और उसकी मौत घटनास्थल पर ही हो गई। यह खबर मिलते ही पश्चिम विभाग के एसीपी दिलीप गावित, पुलिस निरीक्षक संतोष घाटेकर, आर के कोते, एपीआई दीपक सरोदे आदि पुलिस दल के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर मृतक के शरीर का पंचनामा कर शव को पोस्टमार्टम करने के लिए स्वर्गीय इंदिरा गांधी उप जिला अस्पताल ,भिवंडी में भेज दिया। इसके बाद निजामपुर पुलिस ने रघुनाथ पवार के विरुद्ध हत्या का मामला दर्ज कर लिया। पुलिस द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार हत्या की घटना के बाद रघुनाथ अपनी पत्नी व बच्चों के साथ एक मित्र की सहायता से ऑटो रिक्शा में बैठकर कामतघर स्थित अपने रिश्तेदार के घर फरार हो गया। लेकिन पुलिस निरीक्षक संतोष घाटेकर ने जांच शुरू करते ही जाल बिछाकर कुछ ही घंटों में सुबह के समय आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है । आरोपी रघुनाथ को सोमवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा। मृतक के पहचानने वालों ने बताया कि वह मूलतः देवलाली जिला उस्मानाबाद महाराष्ट्र का मूल निवासी है। जिसका विवाह 22 फरवरी2018 को हुआ था। उसके परिवार में पत्नी, माता-पिता गांव में रहते है। वह अनेक वर्षों से खाड़ीपार के क्रांति नगर में रहकर मेहनत मजदूरी कर अपने परिवार का पालन पोषण करता था ।पंचनामा होने के बाद उसके शव को अंतिम संस्कार के लिए  जिला उस्मानाबाद उसके मूल निवास पर भेजा गया है ।
       उक्त हत्याकांड की घटना के बाद हत्यारोपी रघुनाथ की पत्नी गंगा ने बयान दिया है कि आधी रात को प्रतीक दारू पी कर आया और मेरे घर में घुसकर पीने के लिए पानी मांगा। उस समय उसने मेरे साथ छेड़छाड़ की और इज्जत लूटने का प्रयास किया। जिस पर घर में मौजूद मेरे पति व उसके बीच झगड़ा हुआ। शुरू में मृतक ने चाकू लेकर मेरे पति के शरीर पर जानलेवा हमला करने की कोशिश की, लेकिन चाकू पति को लगने की जगह झगड़े में अनजाने में प्रतीक के छाती में घुस गया और उसकी मृत्यु हो गई ।पुलिस मृतक के पत्नी के बयान के बाद दोनों तरीके से जांच में जुटी है। हत्या कैसे हुई यह बात पोस्टमार्टम रिपोर्ट और पुलिस की जांच के बाद ही प्रकाश में आएगी।

Post a comment

Blogger