Ads (728x90)

भिवंडी,हिन्दुस्तान की आवाज,एम हुसेन

भिवंडी।  राज्य शासन द्वारा दिए गए निर्देशानुसार शनिवार तक संपूर्ण राज्य में प्लास्टिक उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया गया है । परंतु भिवंडी महानगरपालिका के सक्षम अधिकारी चौथे शनिवार की छुट्टी का आनंद लेने में व्यस्त थे जिसकारण शहर में प्लास्टिक कार्रवाई मजाक बनकर रह गई है। उक्त कार्रवाई कागज पर दिखाने के लिए कुछ कर्मचारियों ने विविध स्थानों पर दिखाने के लिए कार्रवाई करके खानापूर्ति कर निकल गए हैं। प्लास्टिक कार्रवाई में जब्त की गई प्लास्टिक की जानकारी देने के लिए आरोग्य विभाग प्रमुख,प्रभाग अधिकारी अथवा कर्मचारी मनपा कार्यालय में अनुपस्थित थे।इसलिए मनपा आयुक्त मनोहर हिरे  से उक्त प्रकरण की जांच कर संबंधित कर्मचारियों के विरुद्ध कार्रवाई कराने के लिए मांग महाराष्ट्र एकता मंच व मानव अधिकार संस्था के पदाधिकारियों ने की है।गौरतलब है कि    प्रभाग समिति क्र.५ में मुख्य बाजारपेठ व भाजी  व मच्छी मार्केट है इसी परिसर सहित प्रभूआली,पद्मानगर,शांतीनगर,कामतघर,कल्याणरोड व दर्गाहरोड क्षेत्र स्थित भाजीमार्केट में खुलेआम प्लास्टिक की थैली का उपयोग बदस्तूर  जारी था। परंतु भिवंडी मनपा के कुछ कर्मचारियों ने दिखावे की विशिष्ट से दुकानदारों पर दंडात्मक कार्ररवाई करके  पावती व्हॉट्सअपपर डाल दिया है। इसलिए व्यापारियों में खलबली मच गई है। शनिवार की छुट्टी होने के कारण मार्केट विभाग व नई प्रशासकीय इमारत के कार्यालय सुबह से ही बंद थे। इसलिए कार्रवाई  के बाद जब्त की गई प्लास्टिक कहां जमा रखे हैं ? इस बाबत जानकारी देने के लिए कोई भी सक्षम अधिकारी मनपा कार्यालय में उपस्थित नहीं थे। इसलिए भिवंडी मनपा के पांचों प्रभाग में प्लास्टिक संकलन हेतु केंद्र खोले गए हैं परंतु पांचों कार्यालय छुट्टी होने के पश्चात  बंद  थे। इसी दरम्यान मनपा आयुुक्त मनोहर हिरे के आदेशानुसार प्रभाग समिति क्र.५ में  प्लास्टिक थैली के वितरक व अन्नपदार्थों की  पॅकींग के लिए प्लास्टिक का उपयोग करने वाले छह दुकानदारों के विरुद्ध सफाई विभाग के अधिकारी व कर्मचारियों ने दंडात्मक कार्रवाई करते हुए ३१ हजार ५०० रूपये ,प्रभाग क्र. १ में ६ हजार तथा प्रभाग क्र. ३ में केवल १२०० रुपये वसूल किए गए हैं। उक्त  अवसर पर कार्रवाई की भनक  लगते ही बहुत से प्लास्टिक विक्रेता अपनी दुकान बंद कर दिए इसलिए  कार्रवाई नहीं हो सकी। इसी प्रकार प्रभाग समिति क्र.२ एवं ४ में अधिकारी व कर्मचारी गायब रहने के कारण कार्रवाई नहीं होने का मामला प्रकाश में आया है। इसबाबत आयुक्त मनोहर हिरे  द्वारा जांच कर  दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई करने की मांग  नागरिकों द्वारा की जा रही है। भिवंडी मनपा के पांचों कार्यालय में प्लास्टिक संकलन केंद्र शुरू नहीं होने से शहर के नागरिकों ने अपने पास जमा प्लास्टिक कचरा कुंडी में डाल दिया है जिसकारण बहुत से  स्थानों पर प्लास्टिक का ढेर जमा दिखाई दिया। मनपा के प्लास्टिक कार्रवाई पथक ने केवल दिखावा की कार्रवाई करते हुए   प्लास्टिक के व्यापार करने वाले दुकानदारों पर सतत कार्रवाई करने में  टालमटोल की है इसलिए कुछ ही भाग में कार्रवाई किए जाने के कारण व्यापारियों ने नाराजगी व्यक्त की है। 

Post a comment

Blogger