Ads (728x90)

भिवंडी। एम हुसेन। भिवंडी मनपा क्षेत्र के अधिकांश निचले भूभाग में रहिवासी क्षेत्र तथा खाड़ी के किनारे बसे हुए क्षेत्रों में रहने वालों को बरसात के समय अनेक बार संकट का सामना करना पड़ता है इस नए नैसर्गिक संकट से निपटने के लिए मनपा आयुक्त मनोहर हिरे ने शुक्रवार को मनपा अधिकारियों के साथ पुलिस व अन्य शासकीय विभाग के अधिकारियों की आपात्कालीन  बैठक आयोजित की ।
        उक्त संदर्भ में मनपा जनसंपर्क विभाग अधिकारी मिलिंद पलसुले द्वारा जारी की गई प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार इस महत्वपूर्ण बैठक में सभी पुलिस अधिकारी, बिजली विभाग के टोरेंट अधिकारी, एसटी महामंडल, टेलीफोन विभाग के अधिकारी उपस्थित थे ।उक्त बैठक में मनपा आयुक्त हिरे ने बरसात के समय जगह जगह पर होने वाली कठिन परिस्थितियों की जानकारी ली।उक्त अवसर पर आयुक्त ने कहा कि बरसात के मौसम मनपा क्षेत्र में आपात्कालीन परिस्थिति पैदा न हो इसलिए शहर के सभी मुख्य नालों की साफ-सफाई शुरू की गई है। इसी प्रकार कई जगहों पर नालों  - को चौड़ा करने व उसे साफ करने का काम शुरू किया गया है ।नाला सफाई का काम 31 मई से पूर्व पूर्ण करने का आदेश सभी संबंधित विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को दिया गया है। इसी प्रकार शहर की सड़कों के दोनों तरफ की गटरों की सफाई शुरू की गई है  मनपा मुख्य आपात्कालीन कक्ष 24 घंटे कार्यरात रहेगा। मुख्य आपात्कालीन कक्ष अधिकारी व कर्मचारी की नियुक्ति की गई है।  कर्मचारियों के साथ उनको लगने वाले संसाधन सामग्री टायर ट्यूब, मेगा फोन ,चार्जर, बैटरी, आदि सामग्री नियंत्रण कक्ष में वायरलेस सेट, वाकी टाकी, उपलब्ध कराई गई है। इसी प्रकार सभी प्रभाग समिति कार्यालय में 1 जून से स्वतंत्र आपात्कालीन कक्ष शुरू किया जाने वाला है ।इस बीच स्वतंत्र कर्मचारी वर्ग की नियुक्ति की जा रही है ।बरसात के शुरुआत में पेड़ों के गिरने से दुर्घटना ना हो , इसलिए पहले से खबरदार उपायोजना शुरू कर वृक्षों की कटाई छटाई शुरू की गई है। उद्यान विभाग स्वतंत्र वृक्ष काटने वाले पथक की नियुक्ति की गई है।अग्निशमन विभाग को सतर्क रहने का आदेश दिया गया है। खाड़ी किनारे के परिसर ईदगाह झोपड़पट्टी, महाडा कॉलोनी , संगम पाड़ा, अंबिका नगर,बंदर मोहल्ला आदि स्थानों पर  बाढ़ की स्थिति निर्माण होने पर उन्हें पास के स्कूल अथवा सांस्कृतिक केंद्र में बाढ़ ग्रस्त नागरिकों को तुरंत राहत देने के लिए रहने की व्यवस्था की गई है। उस जगह नागरिकों को भोजन पानी की व्यवस्था की गई है। जोरदार बरसात शुरू होने पर समुद्र भर्ती आने के समय नागरिकों से सतर्क रहने तथा बड़ी गटरों और खड़ी के किनारों पर जाने से मनाई की गई है। शहर के सभी सड़कों को कहीं से भी खोदे जाने से मनाई की गई है। शहर की जिन गटरों के मेनहोल पर ढक्कन नहीं है वहां ढक्कन लगाने का आदेश दिया गया है। इसी प्रकार हर वर्ष की तरह बरसात में दुर्घटना होने से जनहानि तथा मालमत्ता का नुकसान ना हो इसके लिए सावधानी बरती जा रही है। पहाड़ी क्षेत्रों में रहने वाले नागरिकों को सूचित कर भूस्खलन के लिए सावधान किया गया है और उन्हें सतर्क रहने के लिए नोटिस दी गई है। अति जर्जर धोकादायक इमारतों के गिरने से दुर्घटना न हो इसलिए अति जर्जर धोकादायक इमारतों को खाली कराने की सूचना विभागिय अधिकारियों को दिया गया है। यह काम युद्धस्तर पर शुरू किया जा रहा है ।शहर में स्वास्थ्यसेवा, व्यवसायिक संस्था, एंबुलेंस ,सामाजिक संस्था, जीवन रक्षक पथक आदि की सूची तैयार की गई है ।सभी विभाग के संपर्क नंबर जारी किए गए हैं ।यदि शहर में कोई भी आपात्कालीन स्थिति आती है तो मनपा के मुख्य आपात्कालीन कक्ष 02522- 250049 /23 2398 पर संपर्क कर सूचित कियाजा सकता है। अथवा सहायता ली जा सकती है।उक्त प्रकार की जानकारी मनपा आयुक्त मनोहर हीरे ने बैठक में दी है।

Post a comment

Blogger