Ads (728x90)


चेंबूर के कांग्रेसियों में इस बात की चर्चा काफी जोर शोर से चल रही है कि , इसबार निलेश नानचे को नगर सेवक बनना है । जो लोग ऐसी बातें कर रहे हैं मैं उनको स्पष्ट रूप से बता देना चाहता हूं कि , मेरे स्वर्गवासी पिता श्याम नानचे जन्मजात कांग्रेसी थे । कांग्रेस ने एकबार उनको विधायक का टिकट देने के लिए निश्चित  कर लिया था । लेकिन ऐन मौके पर उनका नाम काट दिया गया । इसके बावजूद भी उन्होंने मरते दम तक कांग्रेस का दामन नहीं छोड़ा ।

उपरोक्त बातें चेंबूर तालुका कांग्रेस कमिटी स्लम सेल अध्यक्ष और मुंबई कांग्रेस मनोनित सदस्य निलेश श्याम नानचे ने चेंबूर नाका के जीवन नैया हाउसिंग सोसाइटी में मीडिया से बातचीत में कहा । श्री नानचे ने यह भी कहा कि , मैं कांग्रेस का एक निष्ठावान कार्यकर्ता हूं । मैं गरीब और जरूरतमंद लोगों की सेवा करने में दिलचस्पी रखता हूं । जब से पार्टी ने मुझे पद की जिम्मेदारी दिया है तभी से आज तक कभी मैं घर में नहीं रहा हूं । मुंबई कांग्रेस तय करेगी कि मुझे नगर सेवक बनाना चाहिए अथवा नहीं । फिलहाल इस कोरोना के संकट काल में नगर सेवक बनने की बात मेरे दिल और दिमाग में नहीं है । अभी तो मैं विगत कई दिनों से चेंबूर नाका  ट्रांजिट केंप , चेंबूर पुलिस स्टेशन , अन्नाभाऊ साठे नगर , मारवाड़ी चाल झोपड़पट्टी , जीवन नैया हाउसिंग सोसाइटी के अलावा तमाम इमारतों को कीटनाशक फव्वारा सेनेटाइज करने का काम कर रहा हूं । इसके अलावा नानावटी अस्पताल के कोविड इंचार्ज डॉ लिमये ने लोगों को कोरोना से बचने के जो कारगर उपाय बताया है हम उसकी पर्ची छपवाकर लोगों को बांटकर उन्हें जागरूक कर रहे हैं ।

फोटो ---कपिलदेव खरवार

Post a comment

Blogger