Ads (728x90)


प्रतापगढ़ / हिन्दुस्तान की आवाज / मुक़ीम शेख 

लालगंज प्रतापगढ़। बाबा घुइसरनाथ धाम मे महाशिवरात्रि की सुबह की बेला मे कलाकारों ने भोलेनाथ के एक से बढ़कर एक प्रस्तुत किये गये भजनों व लोकगायन से बड़ी संख्या मे जुटे दर्शक दोपहर बाद तक मंत्रमुग्ध दिखे। प्रयागराज की सुविख्यात गायिका श्रद्धा मल्होत्रा ने जेकै नाथ भोलेनाथ उ अनाथ कैसे होई तथा ए वतन तेरे लिए जैसे कौमी एकता से जुडे लोकगीतों की भी मनमोहक प्रस्तुतियां देकर लोगों को भावविभोर कर दिया।


वहीं प्रयागराज के श्रीराम द्विवेदी संदीप ने हे शम्भू बाबा मेरे भोलेनाथ.. तथा छाप तिलक सब छीनी रे.. और चिट्ठी आई है, वतन से चिटठी आई है.. की मनमोहक प्रस्तुति देकर बाबा की नगरी में श्रद्धालुओं को शिव के जयघोष के उल्लास में ला खड़ा किया। संदीप के ई रेलिया बैरन पिया को लिये जाय रे.. तथा अन्य कई गीतों ने भी सांस्कृतिक मंच को ऊंचाईयां प्रदान की। वहीं क्षेत्रीय कलाकार प्रमोद लहरी के शिव-ताण्डव नृत्य पर महिला तथा पुरूष ऑडीटोरियम भक्ति भावना में झूम उठा। क्षेत्रीय विधायक आराधना मिश्रा मोना ने पूर्व सांसद प्रमोद तिवारी की मौजूदगी मे श्रद्धा मल्होत्रा, संदीप द्विवेदी तथा प्रमोद लहरी को संयोजक पार्श्व गायक रवि त्रिपाठी की मौजूदगी में आयोजन समिति की ओर से महोत्सव स्मृति चिन्ह एवं

प्रशंसा पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। सद्भावना सभा के बाद कला और संस्कृति के संगम बनें बाबा धाम में सई के किनारे एक से बढ़कर एक कलाकारों केे राष्ट्रीय एकता पर आधारित गीतों ने भी महोत्सव के ध्येय को सफलतापूर्वक मुकाम की ओर रोशनी दी। कलाकारों के गीत व संगीत की प्रस्तुतियों पर जलाभिषेक कर रहे श्रद्धालुओं को भी ¬ नमः शिवाय के तरानों में अलमस्त देखा गया। 


Post a comment

Blogger