Ads (728x90)

 

मुंबई: वरिष्ठ भाजपा नेता और मुंबई के पूर्व उपमहापौर  बाबूभाई भवानजी ने कोरोना को फैलने से रोकने के लिए मोदी सरकार की ओर से उठाए कदमों के सही बताया है. आज एक बयान में भवानजी ने  कोरोना के प्रबंधन और उसकी रोकथाम के लिए मोदी सरकार के कदमों की सराहना की  है. उन्होंने कहा कि विदेशों से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग के लिए दुनिया के बाकी देशों से पहले भारत में कदम उठाए गए. 


उन्होंने लॉकडाउन को लेकर विस्तार से चर्चा की है. भवानजी ने  अचानक लगे लॉकडाउन को समय की जरूरत और वायरस को रोकने के लिए उठाया गया कदम बताया है. लाकडाउन का उद्देश्य देशभर में एक समान नियम लागू करना, संक्रमण को उच्चतम स्तर तक पहुंचने की गति को धीमा करना और स्वास्थ्य व्यवस्था को नई चुनौतियों के अनुकूल बनाना था. उन्होंने साफ शब्दों में कहा है कि लोकडाउन से देश में स्वास्थ्य का ढांचा खड़ा करने और अस्पतालों की क्षमता बढ़ाने का समय मिला.


भवानजी ने लॉकडाउन के दौरान लोगों की दिक्कतें दूर करने के लिए उठाए गए कदमों की भी तारीफ की है. उनके  मुताबिक इनमें सबसे प्रमुख था प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना. इसके तहत देशभर में जरूरतमंदों को मुफ्त अनाज मुहैया कराया गया. देश में अचानक लगाए गए लॉकडाउन को लेकर कांग्रेस और अन्य विपक्षी दल लगातार सरकार को घेरते रहे हैं. दो दिनों पहले ही कांग्रेस नेता राहुल गांधी -- लॉकडाउन को लेकर सरकार पर हमला बोला था.


भवानजी ने ये भी माना है कि कोरोना संकट ने पूरी दुनिया के सामने अभूतपूर्व चुनौती खड़ी कर दी जिसके लिए न तो सरकारें तैयार थीं और न ही लोग. उनका कहना है कि सरकार को इसके लिए एक दूरगामी योजना बनानी चाहिए. महामारी से सबक लेते हुए देशभर में प्रवासी मजदूरों का एक डेटाबेस बनाना चाहिए जिससे जरूरत पड़ने पर उनकी मदद आसानी से की जा सके।

Post a comment

Blogger