Ads (728x90)


मुंबई | हिन्दुस्तान की आवाज | मोहम्मद मुकीम शेख


भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को सरकार चलाना नहीं आता है । इसलिए की जिस नौजवान को खेती और किसानी से दूर दूर तक कोई लेना देना नही है वो भी आज किसानों के पक्ष में और मोदी सरकार के खिलाफ सोशल मीडिया पर दिन रात लगा हुआ है ।


           उपरोक्त बातें मुंबई कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष विरेन्द्र बक्षी ने रमाबाई कालोनी में आंबेडकर प्रतिमा के समक्ष भारत बंद को समर्थन देने के लिए धरने पर बैठे कांग्रेस और सेकुलर लोगों को माइक पर संबोधित करते हुए कहा । उन्होंने अपने भाषण में आगे यह भी कहा कि , मोदी को सरकार चलाने का बिल्कुल अनुभव नहीं है । वरना आज ठंड सर्दी के मौसम में लोग रजाई ओढ़ कर अपने घरों में दुबके रहते है वहीं गरीब किसान बिना अन्न जल के लावारिश लाश की तरह सड़कों पर पड़ा हुआ है । कांग्रेस के 70 सालों के शासन काल के इतिहास में ऐसा कभी कुछ नहीं हुआ जब देश के अन्नदाता किसानों को सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरना पड़ा हो खासकर जब गेहूं की फसल बोने का समय हो । मैं तो यह कहना चाहता हूं कि मोदी सरकार हर मोर्चे पर बिल्कुल फेल हो चुकी है अब इसको बदलने की सख्त जरूरत आ पड़ी है । नेहरू , इंदिरा , राजीव , नरसिम्हा राव और मनमोहन सिंह को सरकार और देश चलाने का ढंग था । क्यों कि , कांग्रेस के हमारे प्रधान मंत्रियों ने देश और विदशों में जाकर अच्छी शिक्षा लिया था । यहां तो मोदी की डिग्री का आज तक किसी को कुछ पता ही नहीं है की इनकी कुछ पढ़ाई लिखाई  है भी की  ऐसे ही प्रधान मंत्री बन गए है। मैं समझता हूं हमारी श्रीमती सोनिया गांधी इनसे ज्यादा होंशियार और समझदार महिला हैं जिन्होंने 10 साल अपने आप को सत्ता और कुर्सी से दूर रखकर मनमोहन सिंह को दिल्ली की गद्दी पर बिठाकर इतना बढ़िया सरकार चलाया जिसकी प्रशंसा करते लोग आज भी थकते नहीं है । हमारे युवा नेता राहुल गांधी एकमात्र देश के ऐसे नेता है जो बिना किसी डर और भय के 56 इंच लम्बा और चौड़ा छाती वाले को हर मोर्चे पर ललकार रहे हैं । मोदी के हर कामों पर राहुल गांधी की नजर है । मोदी सरकार जब भी कोई कदम देश और जनता के खिलाफ उठाती है तब फौरन राहुल गांधी उसको रोकने का काम करते है । इनके विरोध में सड़क पर उतरने से कभी डरते नहीं और संसद में मोदी और उनके भाजपा सरकार के खिलाफ बोलने से कभी चूकते नहीं । उनके भीतर छिपे प्रतिभा को पहचानने का अब समय आ गया है । ये पब्लिक है सब जानती है ।

आज हम आपके बीच मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष एकनाथ गायकवाड़ के निर्देश पर मोदी और किसान विरोधी बिल के विरोध में बोल रहे हैं । मुंबई में लगभग सभी ठिकानों पर उनके आदेश पर कांग्रेस धरना प्रदर्शन कर रही है । कांग्रेस ने देश के अन्नदाता किसानों के उपज को मंडी में बेचने का एक सरल और सीधी व्यवस्था बना रखी है । उसी व्यवस्था के तहत देश आजाद हुआ तबसे और आज तक किसान अपनी उपज बेचते आरहे थे और जबतक कांग्रेस के लोगों के बाजुओं में दम रहेगा तबतक उसी नियम के आधार पर किसान अपनी उपज को बेचेगा । मोदी को एक दिन मजबूत होकर किसानों के खिलाफ लाया काला कानून वापस लेना पड़ेगा ।

 इस धरना प्रदर्शन में गुरुद्वारा कमिटी अध्यक्ष परमजीत सिंह , ईशान्य मुंबई जिला कांग्रेस महिला अध्यक्षा श्रीमती रीना पाटिल , केतन शाह , कमलेश कपासी , राजू हासमी , मालती हवलादार , गोविंद लोखंडे , दिगंबर सदावर्रते , सतीश शिंदे , शिवा नारकर , दिलीप शर्मा , संदीप शारदुल , अनिल कदम , जमील खान , प्रहलाद लोखंडे , संजय शिंदे , मनोज वाघमारे ,निलेश कांबले , संजुर अहमद शेख , ब्लॉक अध्यक्ष रामजी शुक्ला , दयानंद जगताप , एड राजेश धरमकर , विदेश पाल सिद्घ  के अलावा कांग्रेस के सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित थे । कार्यक्रम समापन पर विरेन्द्र बक्षी ने नगर सेविका श्रीमती राखी जाधव के साथ सेकुलर आर्ट मुव्हमेंट के चित्र प्रदर्शनी का उद्घाटन कर डॉ बाबा साहेब आंबेडकर की आदमकद प्रतिमा को पुष्प अर्पित कर उनकी पावन स्मृति का अभिवादन किया । 

 फोटो  कपिलदेव खरवार

Post a comment

Blogger