Ads (728x90)

प्रतापगढ़। हाथरसकांड को लेकर अहिंसात्मक धरना प्रदर्शन कर रहे जिले के वरिष्ठ अधिवक्ता समेत कांग्रेसियो के खिलाफ केस दर्ज होने को लेकर अधिवक्ता संगठनो लोगों मे सोमवार को भी आक्रोश दिखा। ऑल इण्डिया रूरल बार एसोशिएसन के पदाधिकारियो की एक बैठक सोशल डिस्टेंसिग के बीच सोमवार को कचेहरी स्थित संकटमोचन धाम मे हुई। बैठक को संबोधित करते हुए एसोशिएसन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ज्ञानप्रकाश शुक्ल ने कहा कि अन्याय की पराकाष्ठा पर हुई हाथरस की घटना का लोकतांत्रिक विरोध करना सभी संगठनो एवं सभ्य समाज का मौलिक अधिकार है। उन्होनें अधिवक्ता डा. नीरज त्रिपाठी समेत कांग्रेसियो पर कोतवाली पुलिस द्वारा दर्ज कराए गए मुकदमें को डीएम से स्वतः संज्ञान लेकर निरस्त कराए जाने की भी मांग की है। अध्यक्षता करते हुए प्रदेश इकाई के अध्यक्ष मुक्कू ओझा ने कहा कि नीरज त्रिपाठी व साथियो पर दर्ज मुकदमा यदि वापस नही लिया गया तो रूरल बार एसोशिएसन कोरोनाकाल मे भी पुलिस प्रशासन के खिलाफ संघर्ष छेडने को बाध्य होगा। बैठक का संचालन जिलाध्यक्ष अंजनी सिंह बाबा ने किया। इस मौके पर विनोद गुप्ता, मनीष सिंह, राघवेंद्र सिंह, दिवाकर सिंह, मनोज, गुलजार अहमद, आसिफ आदि अधिवक्ता रहे। इधर लालगंज तहसील मुख्यालय पर भी संयुक्त अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष अनिल त्रिपाठी महेश ने जिले के वरिष्ठ अधिवक्ता डा. नीरज त्रिपाठी पर दर्ज मुकदमें को वापस लिये जाने की मांग की है।*

Post a comment

Blogger