Ads (728x90)


राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने देश की आजादी के बाद कहा था कि , मै चाहता हूं आजादी की रौशनी गरीबों की झोपड़ी तक जाय । उनका कहने का तात्पर्य गरीबों के घर में प्रकाश से नहीं था बल्कि देश में एक ऐसी सरकार बने जो गरीबों को भरपूर रोजगार और भरपेट रोटी दे ।उनके घरों में भी अमीरों जैसा खुशहाली आ जाए । मैं बात कर रहा हूं चेंबूर सुभाषनगर एम पश्चिम प्रभाग विभाग क्रमांक 152 की कार्य सम्राट नगर सेविका और मुंबई महानगर पालिका स्थाई समिति सदस्य व भाजपा दक्षिण मध्य मुंबई जिला महिला अध्यक्षा श्रीमती आशा सुभाष मराठे की जिन्होंने 2 अक्टूबर गांधी जयंती के पुण्य अवसर पर सुभाषनगर में स्व रमेश [ भाऊ] प्रधान खेल मैदान के बाहर  साप्ताहिक बाज़ार का नारियल तोड़कर उद्घाटन किया । उन्होंने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि , कोरोना के कारण लोगों का रोजगार छीन गया है। बिमारी के डर से लोग घरों से दूर नहीं जाना चाहते है । इसलिए हमने इस योजना को अमल में लाने का प्रयास किया है । साप्ताहिक बाजार में बेरोजगर महिला और पुरुष भाजी पाला बेचेंगे उनको रोजगार मिलेगा, उनकी रोजी रोटी चलेगीऔर स्थानिक लोगों को उनके घर के सामने सस्ते दामों पर ताजा भाजी तरकारी आसानी से उपलब्ध होगा। बता दें कि ,  श्रीमती आशा मराठे का पूरा परिवार पति सुभाष मराठे , बेटा संतोष मराठे और भाजपा के सभी सहयोगी लोगों ने लाकडाउन के दौर में सैकड़ों गरीब लोगों के घरों में खाने पीने की सामग्री पहुंचा कर उनकी हमदर्दी और लोकप्रियता हासिल किया है यह बात भी किसी से छुपी नहीं है । इस समय  निश्चित तौर पर कहा जा सकता है कि श्रीमती आशा मराठे गांधी के सपनों को साकार करने की दिशा में धीरे धीरे ही सही किन्तु आगे बढ़ रहीं हैं । इस मौके पर भाजपा मंडल अध्यक्ष राहुल वालंज , जिला महामंत्री विलास आंबेकर , वार्ड अध्यक्ष अनिकेत चौहान ,श्रीमती शकुंतला हिले ,श्रीमती पूजा सकपाल , जतिन देसाई , रेखा जैन , कांतिभाई नागड़ा , युवराज चौहान , आदि उपस्थित थे । समापन पर श्रीमती सुजाता काले ने श्रीमती आशा सुभाष मराठे को गुलदस्ता देकर उन्हें सम्मानित किया और आशा मराठे ने उनका पांव छूकर आशीर्वाद लिया ।

फोटो कपिलदेव खरवार

Post a comment

Blogger