Ads (728x90)

 -
राज्य में  एक दूसरे के  विरोध में खड़े रहने वाले  शिवसेना भाजपा भिवंडी पंचायत समिति सभापति व उपसभापति  चुनाव  पुनः एक साथ होकर सामंजस्य स्थापित कर  चुनाव टालकर  निर्विरोध निर्वाचित होने में सफल हुए हैं ।
सभापति पद पर शिवसेना के  विकास अनंत भोईर तथा उपसभापति पद पर भाजपा के  जितेंद्र शाम डाकी  एकमेव उम्मीदवारी के लिए नामांकन  दाखिल  किया था परिणाम स्वरुप  पिठासीन अधिकारी तहसीलदार शशिकांत गायकवाड  ने इन्हें  निर्विरोध निर्वाचित होने की घोषणा की  ।
     42 सदस्यों वाली पंचायत समिति में शिवसेना 19 ,भाजपा 19 ,कांग्रेस 2 ,राष्ट्रवादी 1 ,मनसे 1 सदस्य हैं।पूर्व में चुनाव के समय कांग्रेस भाजपा  के साथ चली गई थी  दोनों तरफ बराबर होने के कारण  चिट्ठी  निकाल कर सभापति पद पर  भाजपा की रविना जाधव तथा चिठ्ठी के अनुसार उपसभापति मनसे  के  वृषाली चंदे निर्वाचित हुई थी।इसके बाद  राष्ट्रवादी की  सदस्या  ने शिवसेना  में प्रवेश कर लिया था जिसके कारण   शिवसेना  के 20 सदस्य हो गए थे ।इसलिए  चुनाव में  महाविकास आघाडी के 23   सदस्य होने के कारण  शिवसेना  विजयी हो रही थी परंतु  कांग्रेस के  दो सदस्यों ने पुनः अलग  चाल चलते हुए चुनाव में बराबरी के भय से  शिवसेना व भाजपा स्थानिक पदाधिकारियों  ने सांठगांठ करके इस  चुनाव में  कांग्रेस की  मांग को अस्वीकार कर दिया और यह  शिवसेना व भाजपा  गठबंधन को विजय प्राप्त हुई ।उक्त अवसर पर नवनिर्वाचित सभापति   विकासभोईर को  तालुका प्रमुख विश्र्वास थले,जिला परिषद सदस्य कुंदन पाटील,संपर्क प्रमुख विष्णू चंदे ,उप तालुका प्रमुख चक्रधारी पाटील , जिला परिषद सदस्य सुरेश म्हात्रे आदि ने शुभेच्छा  दी।

Post a comment

Blogger