Ads (728x90)



-
भिवंडी में दिनोंदिन  बढ़ रहे कोरोना संक्रमण पर रोक लगाने के लिये मुंबई की सामाजिक संस्था वन रूपी क्लीनिक ने डोर-टू-डोर लोगों की जांच करना शुरू कर दिया है। कोरोना संक्रमण का हॉटस्पॉट बन चुके शहर के विभिन्न  क्षेत्रों  में 12,250 लोगों की जांच करके उन्हें औषधि  आदि उपलब्ध कराया गया है। वन रूपी मेडिकल टीम द्वारा की गई जांच के दौरान 7 लोग कोरोना के संदेहास्पद मरीज पाये गये हैं ।जिन्हें उपचार  के लिये अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है ।
  वन रूपी मेडिकल टीम द्वारा कोरोना के संदेहास्पद मरीजों का एंटीजेन टेस्ट भी किया गया ।गैबीनगर के गुलजार नगर एवं कामतघर क्षेत्र में वन रूपी क्लीनिक के मेडकिल टीम को प्रोत्साहित करने के लिये विधायक रईस शेख  उपस्थित  थे। वन ररूपी क्लीनिक की मेडिकल टीम में शामिल जावेद काडिला ने बताया कि टीम द्वारा सबसे पहले गैबीनगर के गुलजारनगर स्थित नूरी मस्जिद  क्षेत्र  में लोगों की जांच की गई थी,जहां 486 लोगों की जांच करके उन्हें आवश्यक औषधि  उपलब्ध कराई गई थी।इसी प्रकार  कोरोना संक्रमण का हॉटस्पॉट बन चुके कामतघर  क्षेत्र स्थित  में जांच शुरू किया गया, जिसमें फेनेपाड़ा,फेनेगांव,काकतिया स्कूल के पास,भाग्य नगर,गणेश नगर,आशीर्वाद नगर,शिवाजीनगर एवं पीस पार्क  क्षेत्र  में घर-घर जाकर परिवार के प्रत्येक सदस्यों के स्वास्थ्य की जांच गई। मेडिकल टीम द्वारा कामतघर  क्षेत्र  में कुल 7633 लोगों की जांच की गई है, जिसमें पांच लोग कोरोना के संदेहास्पद मरीज पाये गये हैं, इसी प्रकार अंसार नगर क्षेत्र  में 4131 लोगों की जांच की गई है, जिसमें दो लोग कोरोना के संदेहास्पद मरीज पाये गये हैं ।  

Post a comment

Blogger