Ads (728x90)

-
कोरोना को मात देकर  लौटे भिवंडी के 7 पुलिस कर्मियों का ठाणे पुलिस आयुक्त विवेक फणसालकर द्वारा पुष्पगुच्छ एवं चिकित्सा किट देकर  स्वागत किया गया । स्वस्थ होकर अपनी सेवा में पुनः हाजिर होने वाले भिवंडी शहर,शांतिनगर,नारपोली एवं कोनगांव पुलिस स्टेशन में कार्यरत उक्त सातों पुुुुलिस  र्मिकयों का उनके पुलिस स्टेशन में पुष्पगुच्छ देकर एवं ताली बजाकर उनका स्वागत किया गया था ।
  पुलिस उपायुक्त राजकुमार शिंदे ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान अपनी सेवा के दौरान भिवंडी के कई पुलिस कर्मी कोरोना संक्रमित हो गये थे ,जिन्हें  उपचार के लिये विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया था। उसमें से 7 पुलिस कर्मी कोरोना को  मात देकर अपनी सेवा में पुनः हाजिर हो गये हैं ।अपनी सेवा में हाजिर होने वाले सातों पुलिस कर्मियों को पुष्पगुच्छ एवं चिकित्सा किट देकर उनका स्वागत किया गया है।उन्होंने बताया कि भिवंडी शहर पुलिस स्टेशन के पुलिस उपनिरीक्षक एच.आर.शेख कोरोना संक्रमित हो गये थे जिन्हें उपचार के लिये 4 जून को ठाणे के वेदांत हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। लगभग 8 दिन उपचार  के बाद कोरोना निगेटिव पाये जाने के बाद उन्हें 12 जून को अस्पताल से घर भेज दिया गया था। लगभग 14 दिन घर में क्वारंटीन होने के बाद 26 जून को वह पुनः भिवंडी शहर पुलिस स्टेशन में अपनी सेवा पर हाजिर हो गये । इसी  प्रकार शांतिनगर पुलिस स्टेशन के पुलिस नाईक मार्तंड भेरे जांच के दौरान कोरोना  संक्रमित पाये जाने पर 1 जून को उन्हें ठाणे हॉरिजोन प्राइम हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था।ठीक होने के बाद उन्हें 12 जून को  घर भेज दिया गया था और घर में क्वारंटीन रहने के बाद 20 जून को वह अपनी सेवा में हाजिर हो गये थे ।शांतिनगर पुलिस स्टेशन के ही अरुण पाटील भी कोरोना संक्रमित पाये गये थे, जिन्हें  उपचार  के  लिये  7 जून को कलवा स्थित सफायर हॉस्पिटल खारेगांव में भर्ती कराया गया था। 17 जून को उन्हें हॉस्पिटल से घर भेज दिया गया था,घर में क्वारंटीन के बाद 1 जुलाई को वह अपनी सेवा में हाजिर हो गये , शांतिनगर पुलिस स्टेशन की महिला पुलिस कर्मी प्रतीक्षा जाधव भी 8  जून को कोरोना संक्रमित पाई गई थीं जिन्हें  उपचार के लिये डोंबिवली के न्यूऑन हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था।क्वारंटीन के बाद 1 जुलाई को वह भी अपनी सेवा में हाजिर हो गई हैं ।इसी प्रकार नारपोली पुलिस स्टेशन के पुलिस कर्मी भावेश जाधव 14 अप्रैल को कोरोना संक्रमित हो गये थे, जिन्हें उपचार के लिये ठाणे के हॉरिजोन प्राइम हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था।स्वस्थ होने के बाद  20 जून को उन्होंने अपनी ड्यूटी ज्वाइन कर लिया था।कोनगांव पुलिस स्टेशन के 2 पुलिस कर्मी युवराज पाटील एवं अविनाश पाटील 7 जून को कोरोना संक्रमित हो गये थे। दोनों पुलिस कर्मियों को  उपचार के लिये डोंबिवली स्थित न्यूऑन हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। ठीक होने के बाद 14 जून को उन्हें घर भेज दिया गया था।घर में क्वारंटीन रहने के बाद 30 जून को युवराज पाटील और 1 जुलाई को अविनाश पाटील अपनी सेवा में हाजिर हो गये हैं । कोरोना को मात देकर पुनः अपनी सेवा में हाजिर होने वाले पुलिस कर्मियों का  भव्य स्वागत किया गया है ।                   

Post a comment

Blogger