Ads (728x90)

डॉ अनील काशी मुरारका ने आज कोरोना के इस महामारी बीमारी के बीच केंद्र सरकार व महाराष्ट्र सरकार से मांग की है कि महाराष्ट्र में रह रहे झुग्गी झोपड़ियों के लोगों के घरों के स्कूली बच्चों छात्रों का कम से कम 6 महीने की फीस केंद्र व राज्य सरकार दोनों मिलकर माफ करें साथ ही उन्होंने इन सरकारों से यह भी मांग कि के जो यूजीसी छात्रों के एग्जाम को लेकर एचआरडी मिनिस्टर रमेश पोखरियाल निशंक ने सरकुलेशन जारी किया है इस पर रोक लगाकर बच्चों के कॉलेज में पिछले परफॉर्मेंस को देखते हुए. इनको अगली कक्षा में पास कर भेजा जाए. साथ ही तीसरी . मुरारका ने सरकार से यह मांग की कि मुंबई और महाराष्ट्र की झुग्गी झोपड़ियों में रह रही महिलाएं जो घर खाते में काम करती हैं आज उनकी जीव का पर सबसे ज्यादा संकट के बादल मंडरा रहे हैं ऐसे महिलाओं को सरकार चिन्हित कर कम से कम इनके परिवार के जीव का के लिए कुछ रुपय हर घरगुती महिला को दिये जाए और लास्ट मांग उन्होंने कि की महाराष्ट्र के अंदर सरकार को कम से कम चाहे वह स्लम हो या बिल्डिंग एरिया इस महामारी में सब के ऊपर असर पड़ा है काफी लोग बेरोजगार हुए हैं काफी लोगों के धंधे बिजनेस पर बहुत बड़ा असर हुआ है इसको देखते हुए कम से कम 4 महीने के बिजली बिल माफ किये जाए आज यह मांग डॉ अनिल काशी मुरारका ने पूरे देश के तरफ से भारत सरकार व देश की सभी स्टेट सरकारे से मांग की है उन्होंने अपने एम्पल निशा संस्था के द्वारा इस लाक डाउन के दौरान. ऐसे हजारों जरूरतमंद लोगों को हर तरह से मदद भी पहुंचाई है इसी को देखते हुए उन्होंने सरकार से गुहार लगाई है

Post a comment

Blogger