Ads (728x90)

 भिवंडी।एम हुसेन । भिवंडी  मनपा से सटे हुए  पूर्णा गाव में स्थित अटलांटिस अस्पताल को ठाणे जिलाधिकारी  ने कोविड 19 अस्पताल के रूप में मंजूरी दे दी है।गौरतलब है  कि  42 बेड के इस अस्पताल में 8 वेंटीलेटर है  और 8 आईसीयू  यूनिट  भी हैं। इस अस्पताल के संस्थापक डॉ सचिन पाटिल ने  पार्षद तल्हा शरीफ हसन मोमिन की  अपील पर, उन्होंने अपने अस्पताल को कोविड 19 अस्पताल में बदलने के लिए सहमति  दी थी।
 उल्लेखनीय है कि शहर में  लाॅकडाउन  के पांचवें चरण में कोरोना वायरस से संक्रमित  मरीजों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ते जा  रही है। ऐसी परिस्थिति में  स्व इंदिरा गांधी उप-जिला अस्पताल जिसे  100  बेड का कोविड 19  अस्पताल बनाया गया है , जहां केवल 4 वेंटिलेटर है जो बहुत कम है। टाटा आमंत्रा में कोरंटीन की सुविधा के अलावा इमरजेन्सी स्तिथि में मरीजों को या तो इंदिरा गांधी अस्पताल या  ठाणे सिविल अस्पताल भेजने के अलावा कोई चारा नहीं है।  इन परिस्थितियों में, डॉ सचिन पाटिल के अटलांटिस अस्पताल को कोविड 19  अस्पताल में बदलना एक अच्छी बात है ।आज भिवंडी मनपा के मनपा आयुक्त डॉ प्रवीण आष्टीकर ने पार्षद तलहा शरीफ हसन मोमिन की उपस्थिति में डाॅ सचिन पाटिल को उक्त संदर्भ में अनुमति प्रदान की है। जिसके अनुसार  उनके  अस्पताल को सरकार द्वारा  कोविड 19 अस्पताल के रूप में  स्वीकार्य  किया गया है। इस अवसर पर, आयुक्त ने शहर के लगभग सभी बड़े अस्पतालों के प्रवेश द्वारों के पास एक अस्थायी ऑक्सीजन केंद्र स्थापित करने के लिए अपनी स्वीकृति प्रदान करने की इच्छा जताई है ।और कहा कि बहुत जल्द इस संदर्भ में भी कार्रवाई की जायेगी,इस प्रकार का आश

Post a comment

Blogger