Ads (728x90)

भिवंडी।एम हुसेन। शाहपुर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या दिनों-दिन बढ़ती  तेजी से बढ़ रही है । जिसके कारण कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 64 तक पहुंच गई है, उसमें 37 मरीज ठीक हो गये हैं और कोरोना संक्रमित दो मरीजों की मौत भी हो चुकी है । वहीं दूसरी तरफ कोरोना  संक्रमित  मरीज के संपर्क में आई 60 वर्षीय वृद्ध महिला को समय पर वेंटीलेटर न मिलने के कारण उसकी मौत हो गई है।कोरोना संक्रमित मरीज के संपर्क में आने के कारण जोंधले कॉलेज स्थित क्वारंटीन केंद्र में रखी गई इस महिला की वेंटीलेटर की सुविधा न मिलने से हुई मौत को लेकर लोगों में भय का वातावरण व्याप्त है ।   
   शाहपुर तालुका में इस समय कोरोना संक्रमित 25 मरीजों का  उपचार  चल रहा है।कोरोना संक्रमित मरीजों के संपर्क में आने के कारण 660 लोगों को क्वारंटीन किया गया है । जिसमें 249 लोगों को सरकारी क्वारंटीन केंद्र में रखा गया है और 412 लोगों को होम क्वारंटीन में रखा गया है। तालुका के कुल 13  क्षेत्र  कंटेनमेंट जोन में हैं,तालुका के गोपालनगर की 60 वर्षीय एक महिला कोरोना  संक्रमित  अपने दामाद के संपर्क में आ गई थी। जिसके कारण उसे जोंधले कॉलेज स्थित क्वारंटीन केंद्र में रखा गया था, क्वारंटीन केंद्र में लगभग 13 दिन तक वह महिला काफी ठीक थी,लेकिन सोमवार को अचानक उसकी तबियत बिगड़ गई। जिसके कारण उसे  उपचार के लिये एंबुलेंस से तुरंत शाहपुर स्थित उपजिला अस्पताल लाया गया।
    नगरसेवक हरेश पष्टे ने उपजिला अस्पताल पर लापरवाही का आरोप लगाते हुये बताया कि वृद्ध महिला की हालत ज्यादा गंभीर होने के बावजूद बिना वेंटीलेटर के उसे आधा घंटे तक अस्पताल परिसर में वैसे ही रखा गया था ।उपजिला अस्पताल में उसकी तबियत ज्यादा खराब होने के कारण उन्हें ठाणे के सिविल अस्पताल में भेज दिया गया। वहां भी वृद्ध महिला को भर्ती नहीं किया गया, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मनीष रेंगे ने सिविल अस्पताल के अतिरिक्त जिला सर्जन डॉ. कांबले से संपर्क करके भर्ती करने के लिए  निर्देश दिया। जिसके बाद वृद्ध महिला को सिविल अस्पताल में भर्ती करके उसका  उपचार  शुरू किया गया। लेकिन वृद्ध महिला की हालत ज्यादा खराब होने के कारण उपचार  के दौरान ही उसकी मौत हो गई। उक्त महिला की मौत के संदर्भ में तालुका स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. तरुलता धानके से संपर्क करने पर उन्होंने कहा कि वह प्रांत साहेब की मीटिंग में हैं। 
   उपजिला अस्पताल के संबंधित डॉक्टरों द्वारा मरीज के बारे में पूर्व सूचना देकर समय पर 108 नंबर एंबुलेंस एवं वेंटीलेटर की व्यवस्था न करने और अस्पताल परिसर में आधा घंटा रुकने के कारण वृद्ध महिला की मौत हुई है। जिसका जिम्मेदार उपजिला अस्पताल है।इस प्रकार की प्रतिक्रिया  - हरेश पष्टे - नगरसेवक,शाहपुर ने व्यक्त की है।         
     

Post a comment

Blogger