Ads (728x90)

भिवंडी।एम हुसेन। भिवंडी शहर से ट्रक व कंटेनर आदि  में भर भर कर प्रवासी मजदूरों को मूल गांव लेजाने का काम निरंतर  किया  जा रहा है। इसके एवज में भूखे प्यासे बेरोजगार दयनीय  हाल मजदूरों से  ट्रक व अन्य वाहन मालिक द्वारा 3 हजार से लेकर 4 हजार रुपये तक का किराया वसूल किया जा रहा है। इन ट्रकों व कंटेनर आदि  में मजदूरों को भेजने के लिए भिवंडी में सैकड़ों एजेंट दलाल के रूप में सक्रिय हो गए हैं। यह दलाल रूपी एजेंट ट्रक मालिक को यात्रियों की व्यवस्था करने की एवज में प्रति यात्री 400 से 500 रुपये वसूल रहे हैं। विवेकानंद फाउंडेशन के अध्यक्ष एड विवेकानंद पांडे ने राज्य प्रशासन मनपा, प्रशासन व पुलिस प्रशासन से मांग की है कि इस  प्रकार  से शहर में सक्रिय दलालों को पकड़कर उनके विरूद्ध  दंडात्मक कार्रवाई की जाए।
गौरतलब हो कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के चलते पूरे देश में  लाॅकडाउन  लागू किया गया है  । जिसके कारण  भिवंडी के सभी उद्योग ,कारखाने ,दुकान बाजार सब पूर्ण रूप  से बंद हो गए हैं। मालिक से लेकर मजदूर तक सबकी आमदनी का जरिया भी इसी के साथ बंद हो गया है ।विगत लगभग  2 महीने से मजदूर परेशान हो करके अपने मूल गांव के लिए जाना शुरु कर दिए हैं । जिसका लाभ  उठाकर  कई ट्रक मालिकों द्वारा अपनी ट्रकों को भिवंडी के अंजुर फाटा, भंडारी कंपाउंड, कल्याण नाका, वंजार पट्टी नाका,अवचित पांडा,नदी नाका,चाविंद्रा , राजनोली नाका तथा हाईवे स्थित वड़पे नाका पर मजदूरों को ट्रकों में भरकर गांव ले जाने का कमाई का नया धंधा जोरों से शुरू कर दिया गया है । एडवोकेट पांडे ने बताया कि उक्त ट्रक  मालिक मजदूरों को भिवंडी से उ प्र  तक पहुंचाने के लिए 3 से 4 हजार रुपया किराया वसूल करते हैं और एक ट्रक में 50 से लेकर 70 मजदूरों तक को भरते हैं। यही हाल बोलोरो पिकअप , जीप, मेटाडोर तथा अन्य छोटे-बड़े वाहनों में मजदूरों को गांव ले जाने का नया धंधा शुरू किया गया है। जिसके लिए भिवंडी में एजेंट के  रूप में कई दलाल सक्रिय हो गए हैं। सूत्रों ने बताया कि यह तथाकथित एजेंट ट्रक मालिक या वाहन मालिक जो उ प्र  की तरफ मजदूरों को ले जा रहे हैं उनसे प्रति मजदूर 500 रुपये  वसूल रहे हैं। इस प्रकार  दलालों की सक्रियता और ट्रक मालिकों की बर्बरता के कारण मजदूरों का जबरदस्त शोषण हो रहा है, जो पूरी तरह से कानून अपराध है। विवेकानंद फाउंडेशन के एड विवेकानंद पांडे ने भिवंडी प्रांत अधिकारी, तहसीलदार, मनपा आयुक्त तथा भिवंडी पुलिस उपायुक्त से मांग की है कि वह इस  प्रकार  के कार्य करने वाले ट्रक मालिकों और उनसे  मिलीभगत करके पैसा कमाने वाले एजेंट रूपी दलालों को पकड़ कर उनके विरुद्ध दंडात्मक कार्रवाई करते हुए उन्हें जेल भेजें ।

Post a comment

Blogger