Ads (728x90)













 भिवंडी।एम हुसेन। भिवंडी में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या दिनों दिन बढ़ती जा रही है जो चिंता का विषय बना हुआ । शनिवार को  14  संक्रमित मरीज  पाये गये हैं , जिससे भिवंडी में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 209  तक पहुंच गई है । उसमें 114 मरीज ठीक होकर घर चले गये हैं और 9 मरीजों की मौत हो गई।कोरोना संक्रमित पाये गये  7 लोग मनपा क्षेत्र के हैं।मनपा  क्षेत्र के कोरोना संक्रमित मरीजों में मरने वालों की संख्या भी बढ़ती जा रही है।मनपा क्षेत्र  के 119 कोरोना संक्रमित मरीजों में 63 मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं और 6 मरीजों की मौत हो गई है। इसी  प्रकार  ग्रामीण  क्षेत्र  में 7 नये मरीज पाये जाने से कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 90 हो गई है। जिसमें 51 मरीज ठीक होकर अपने  घर जा चुके हैं और 3 मरीजों की मौत हो चुकी है ।
    शुक्रवार को मनपा  क्षेत्र  में पाये  जाने वाले  कोरोना संक्रमित 6 मरीजों में से 2 लोग कोरोना संक्रमित पाये गये हैं, जो 20 मई को दिल्ली से भिवंडी आये थे। हैरानी की बात यह है कि कोरोना की रिपोर्ट आने के पहले ही दिल्ली से आये 9 लोग क्वारंटीन केंद्र छोड़कर घर चले गये थे ।
    बतादें कि 20 मई को दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज से 9 लोग आये थे, जिन्हें मिल्लतनगर के व्यक्ति द्वारा तुरंत टाटा आमंत्रा स्थित सरकारी क्वारंटीन केंद्र में भर्ती करा दिया गया था। उनके स्वैब का नमूना लेकर जांच के लिये भेज दिया गया था।कोरोना की रिपोर्ट आने  के  पहले ही 23 मई को ही सभी लोग होम क्वारंटीन में रहने के लिये बताते हुये सरकारी क्वारंटीन केंद्र छोड़कर अपने घर चले गये थे । लेकिन 29 मई को आई कोरोना की रिपोर्ट में दो लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है, जिन्हें  उपचार  के लिये अस्पताल में भर्ती कराया गया है । 
   हैरानी की बात यह है कि कोरोना संक्रमित पाये गये दोनों लोग 6 दिनों तक अपने घर पर रहे,उनके संपर्क में कितने लोग आये होंगे ।उन्हें संक्रमित होने से इंकार नहीं किया जा सकता है, इसके लिये मनपा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को जवाबदार माना जा रहा है। उसी क्षेत्र के  रहने वाले समाजसेवी  हमीद शेख ने बताया कि सरकारी क्वारंटीन केंद्र छोड़कर आने वाले सभी लोग किसी नगरसेवक की सलाह पर छोड़कर घर चले आये थे जो चिंता का विषय बना हुआ है साथ ही सभी को व्यवस्था पर आश्चर्य भी हो रहा है । 

Post a comment

Blogger