Ads (728x90)

 भिवंडी ।एम हुसेन।कोरोना वायरस के बढते संक्रमण को रोकने के लिए सरकार द्वारा लाॅकडाउन  लागू किया गया है जिसकारण सभी उद्योग, व्यवसाय पूर्ण रूप से बंद हो गए हैं। परिणामस्वरूप मजदूरों, गरीबों को अनेक प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है जिससे तंग आकर मजदूर पैदल,ट्रक व साइकल द्वारा  पलायन करने लगे थे ।जिसे गंभीरतापूर्वक संज्ञान में  लेते हुए सरकार ने रेलवे द्वारा इन्हें इनके मूल गांव तक सुरक्षित पहुंचाने का निर्णय लिया है। जिसके अनुसार गत शनिवार दिनांक 2 मई 20 को भिवंडी रोड रेलवे स्टेशन से लगभग 1200 मजदूरों को उ प्र के गोरखपुर के लिए रवाना हुई थी। इसी प्रकार गत सोमवार  दिनांक  4 मई 20 को 9 बजकर 55 मिनट पर भारत माता की जय और जय श्रीराम के नारों के साथ गुलाबी नगरी जयपुर के लिए 1211 यात्रियों को लेकर भिवंडी रोड रेलवे स्टेशन से विशेष ट्रेन रवाना हुई है । सरकार द्वारा निःशुल्क यात्रा की अफवाह की खबर के बावजूद इस विशेष ट्रेन से यात्रा करने वाले प्रवासी श्रमिकों से 555 रूपए  किराया के रूप में  रेलवे द्वारा वसूल किया गया है । इस अवसर  पर ठाणे के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त अनिल कुंभारे, भिवंडी के पुलिस उपायुक्त राजकुमार शिंदे, भिवंडी पूर्व के सहायक पुलिस आयुक्त नितिन कौसडीकर सहित रेलवे विभाग के अधिकारियों और रेलवे पुलिस के डीसीपी ने ताली बजाकर ट्रेन को रवाना करते हुए प्रवासियों की यात्रा मंगलमय होने की कामना की।ज्ञात  हो कि पिछले शनिवार को भिवंडी से गोरखपुर के लिए पहली विशेष श्रमिक ट्रेन देर रात 12 बजकर 58 मिनट पर रवाना हुई थी। जिसमें केवल गोरखपुर जिला के रहने वाले  केवल भिवंडी के  लगभग 1200 प्रवासी श्रमिकों को ही जगह मिली थी। लेकिन सोमवार को जयपुर जाने वाली ट्रेन में भिवंडी सहित बदलापुर, कल्याण, डोंबिवली और अंबरनाथ आदि के प्रवासी मजदूरों का भी समावेश था।इस विशेष श्रमिक एक्सप्रेस से  मूल गांव  जा रहे  लगभग 1211 यात्रियों को 2 पैकेट पुलाव, मास्क, दस्ताना, सेनेटाइजर, हाथ धोने का साबुन, 3 पैकेट बिस्कुट और 3 बोतल पानी की सुविधा भी मुहैया कराई गई है । इस अवसर पर शहर के अनेकों सामाजिक संगठनों और उनके कार्यकर्ताओं ने प्रवासी मजदूरों को हाथ हिलाकर विदाई देते हुए उन्हें  उनके मंगलमय यात्रा की शुभ कामनाएं दीं ।

Post a comment

Blogger