Ads (728x90)

 भिवंडी। एम हुसेन । लॉकडाउन के कारण भिवंडी से मजदूरों का गांव जाना  थमने का नाम नहीं ले रहा है । गांव जाने वाले मजदूरों के पास खाने-पीने के लिये कुछ भी नहीं है,जिनके लिये अनेकों लोग खाना एवं नाश्ता आदि दे रहे हैं। लेकिन उन्हें जो खाना नाश्ता दिया जा रहा है उसका उपयोग ज्यादा से ज्यादा वह 24 घंटा ही कर सकते हैं। जिसके लिये श्री भैरव सेवा समिति द्वारा उन्हें नमकीन एवं फरसाण आदि सूखा नाश्ता दिया जा रहा है। श्री भैरव सेवा समिति के पदाधिकारी अनिल जैन ने बताया कि शहर की सभी दुकानों के बंद होने के कारण हजारों मजदूरों के लिये सूखा नाश्ता बनाना आसान नहीं था, जिसके लिये उन्होंने गोकुलनगर,अजयनगर,शिवाजी चौक एवं खड्गरोड की 30 से 40 सोसायटियों में 200 ग्राम की थैली भेजकर उसमें नमकीन एवं फरसाण आदि भरकर देने का अनुरोध किया था। जिसके बाद लगभग 300 परिवारों द्वारा 6 हजार पैकेट समिति को उपलब्ध कराया  गया है। समिति के कार्यकर्ताओं द्वारा जिसे मुंबई-नासिक महामार्ग से जाने वाले मजदूरों में वितिरत कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि ज्यादातर मजदूर ट्रकों से जा रहे हैं, जिन्हें गर्मी के इस समय सबसे आवश्यक पानी है। मजदूरों को पानी देने के लिये रांजनोली नाका एवं वड़पे नाका पर पानी का दो टैंकर लगाया गया है, जहां से मजदूर आसाानी से पानी लेकर जा रहे हैं ।


Post a comment

Blogger