Ads (728x90)

भिवंडी।एम हुसेन। भिवंडी शहर  उद्योगनगरी  है, भिवंडी शहर की आर्थिक गति का रूकना उचित नहीं है।यहां के गोदाम व्यवसाय में प्रति दिन  6 लाख  मजदूर कार्य  करते हैं। यहां  `कोरोना' वायरस के बढते संक्रमण को रोकने के लाॅकडाउन लागू किया गया है ।परंतु   सर्वोच्च प्राधान्य देने के साथ ही  केंद्र सरकार  द्वारा   `लॉकडाउन' उठाये जाने के बाद सामाजिक अंतर का विशेष ध्यान  रखते हुए उद्योग-व्यवसाय  शुरू कैसे होगा ,इस विषय पर सरकारी यंत्रणा विचार करें ।इस प्रकार का  आवाहन  सांसद कपिल पाटील  ने  आज  भिवंडी प्रांत कार्यालय में हुई एक बैठक में  किया है।
शहर व तालुका की परिस्थितियों के संदर्भ में सांसद कपिल पाटील ने आज जानकारी ली ,उक्त अवसर पर उपविभागीय अधिकारी डॉ. मोहन नलदकर, तहसीलदार शशिकांत गायकवाड, भिवंडी  मनपा आयुक्त डॉ. प्रवीण आष्टीकर एवं गटविकास अधिकारी प्रदीप घोरपडे उपस्थित  थे ।
कोरोना वायरस के भिवंडी शहर में 25 व तालुका में 22 मरीज पाये गये हैं। मुंबई-ठाणे में  बड़े पैमाने पर  इसका संक्रमण बढते जा  रहा है , परंतु  भिवंडी पुलिस , महानगरपालिका , महसूल विभाग सहित  सरकारी यंत्रणा द्वारा अच्छी  उपाययोजना की गई है जिसकारण  संख्या में  कमी है इसलिए मैं आप सभी का आभारी  हूं। इस समय `रमजान' का  महीना शुरू  है, सभी को योग्य  सावधानी बरतनी होगी । सभी जवाबदारी सरकार पर न डाले  नागरिकों को सूचनाओं पर ध्यान में रखते हुए  पालन करना चाहिए और `सामाजिक अंतर' का पालन करना चाहिए ,इसके बाद ही कोरोना के चैन को तोड़ा जा सकता है।इस प्रकार का मनोगत सांसद  कपिल पाटील  ने  व्यक्त किया है। देशभर सहित महाराष्ट्रा में जीवनावश्यक वस्तु भारी मात्रा में जमा है इसलिए  कोई भी खरीदारी के लिए भीड ना करें इस प्रकार का  आवाहन भी सांसद ने किया है। 
भिवंडी यह एक उद्योगनगरी  है जिसकी गति  पुनः  `लॉकडाउन' के बाद  शुरू कराया जाये , सामाजिक अंतर  के नियमों का पालन करते हुए  लॉकडाउन उठाने की घोषणा  होने के बाद ही गोदाम में कुछ पैमाने पर शुरू करने बाबत विचार करें।परंतु  रेड जोन सहित  विविध ठिकानों पर  एक ही समय 6 लाख  मजदूर  आये तो बड़े पैमाने पर फैलाव हो सकता है । इसे रोकने बाबत सर्वप्रथम उपाययोजना करने की आवश्यकता है ।इस प्रकार का सुझाव  कपिल पाटील ने देते हुए, गरीब मजदूरों को आवश्यक सुविधा  उपलब्ध कराने के लिए भी  निर्देश दिये।

Post a comment

Blogger