Ads (728x90)

ददरौल विधायक ने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखा पत्र

शाहजहांपुर/ जिले में जिला पूर्ति विभाग और उचित दर विक्रेताओं की मनमानी के चलते प्रदेश की सत्ताधारी पार्टी भाजपा के विधायक भी बेबस दिखाई दे रहे हैं एैसे में प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ की गरीब मजदूरों को 3 माह निशुल्क राशन वितरण की योजना को बट्टा लगता दिखाई दे रहा है आपको बता दें 2 दिन पूर्व तिलहर विधानसभा के विधायक रोशनलाल वर्मा ने जिला अधिकारी शाहजहांपुर को पत्र लिखते हुए अवगत कराया था कि विधानसभा तिलहर क्षेत्र के उचित दर विक्रेता गरीबों के हिस्से का राशन हड़प रहे हैं और उनके राशन कार्ड पर अंकित यूनिट जिला पूर्ति विभाग द्वारा लगातार काटे जा रहे हैं और कोटेदार गरीब मजदूर वर्ग के लोगों के साथ बदसलूकी और झगड़ा करने को तैयार है और इससे पूर्व भी कई जगह से दो रुपए किलो मिलने वाले राशन को 6 रुपए प्रति किलो बेचने के मामले सामने आए हैं लेकिन जिला पूर्ति अधिकारी पूरन सिंह चौहान द्वारा अभी तक ऐसे कोटेदारों पर  कार्यवाही नहीं की गई है जो जिला पूर्ति विभाग को संदेह के घेरे में खड़ा करती है वही सीधे-साधे स्वभाव के ददरौल विधानसभा के भाजपा विधायक मानवेंद्र सिंह ने संकट की घड़ी में  जनता की समस्याओं का ध्यान रखते हुए अपनी विधानसभा क्षेत्र में कोटेदारों द्वारा गरीब मजदूरों को निशुल्क राशन ना दिए जाने को लेकर जिला स्तर पर ना सुनी जाने के कारण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है पत्र में उन्होंने अवगत कराया है कि कोरोना  महामारी जैसी संकट की घड़ी में जो निशुल्क राशन वितरण योजना चलाई गई है उसका पूर्ति विभाग और उचित दर विक्रेता पालन नहीं कर रहे हैं और पात्रों को भी राशन उपलब्ध नहीं हो पा रहा है जिसकी जनमानस  द्वारा लगातार शिकायतें प्राप्त हो रही है और समाचार पत्रों में प्रकाशित हो रहा है उन्होंने पत्र में मुख्यमंत्री से ऐसे कोटेदारों पर शासन स्तर से कार्रवाई कराए जाने की मांग की है ऐसी स्थिति में जब सत्ताधारी विधायक व्यवस्था पर प्रश्नचिन्ह उठा रहे हो तो हकीकत क्या होगी यह आप समझ सकते हैं लेकिन जिला पूर्ति विभाग में फैले भ्रष्टाचार के चलते स्थिति इतनी खराब हो चुकी है जो सत्ताधारी विधायकों के भी बस की बात नहीं रही है
 ब्यूरो रिपोर्ट :बीडी कनौजिया शाहजहांपुर

Post a comment

Blogger