Ads (728x90)

 भिवंडी ।एभ हुसेन। भिवंडी के कामतघर क्षेत्र स्थित रहने वाला डॉ. प्रभाकर विश्वकर्मा एक भजनानंदी ऐसा छोटा परिवार है ।जो लॉकडाउन के दौरान अपने परिवार के साथ भजन गाकर एवं नित्य हवन पूजन करके समय का सदुपयोग कर रहा है। डॉ. प्रभाकर विश्वकर्मा स्वंय भजन गाते हैं और उनका साथ हारमोनियम के साथ देती हैं उनकी पत्नी दीपमाला विश्वकर्मा, हालांकि दीपमाला भी भजन गायिका हैं। भजन के दौरान विश्वकर्मा दंपत्ति का तबला बजाकर साथ देता है उनका लड़का निपुण विश्वकर्मा। निपुण विश्वकर्मा अभी छोटा है लेकिन तबला एवं ढोल अच्छा बजाता है। डॉ. प्रभाकर विश्वकर्मा बताते हैं कि लॉकडाउन के दौरान उनका परिवार समय काट नहीं रहा है, बल्कि अपने घर के अंदर रहकर कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से बच रहा है और भजन एवं नित्य हवन पूजन के साथ लॉकडाउन के समय का सदुपयोग कर रहा है। सुबह महामृत्युजंय मंत्र के साथ हवन एवं पूजन के साथ उनके दिनचर्या की शुरुआत होती है और उसके बाद दिन में परिवार के साथ बैठकर भजन गाया जाता है तथा शाम को भी हवन पूजन के साथ समय का सदुपयोग किया जा रहा है। डॉ.प्रभाकर बताते हैं कि उनका परिवार महामृत्युंजय मंत्र के अलावा श्रीमद्भगवदगीता हवन करते हैं । डॉ. विश्वकर्मा दंपत्ति कामतघर के ठाकरापाड़ा रोड स्थित श्री गंभीरानंद आश्रम में भजन एवं हवनादि करते थे, लेकिन लॉकडाउन के कारण आश्रम भी बंद है। जिसके लिये वह अपने घर पर ही भजन एवं हवनादि कर रहे हैं ।    

Post a comment

Blogger